नई दिल्ली. इंग्लैंड के ऑल-राउंडर मोईन अली ने नस्लीय टिप्पणी को लेकर एक सनसनीखेज खुलासा किया है. मोईन अली के ऊपर ये नस्लीय टिप्पणी 2015 एशेज सीरीज के दौरान एक ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी द्वारा की गई. कार्डिफ में खेले गए एशेज सीरीज के पहले टेस्ट के दौरान मोईन अली को एक ऑस्ट्रेलियन क्रिकेट ने ओसामा कहा था. उन्होंने इस घटना का उल्लेख अपनी ऑटोबायोग्राफी में किया है जो जल्द रिलीज होगी.

कार्डिफ में खेले गए एशेज सीरीज के उस पहले टेस्ट मैच में मोईन अली ने अपना डेब्यू किया था. अपने पहले ही टेस्ट मैच में 77 रनों की पारी खेली और शानदार बॉलिंग करते हुए ऑस्ट्रेलिया के 5 विकेट भी लिए. मोईन अली के इस ऑल-राउंडर प्रदर्शन के चलते इंग्लिश टीम ने पहले टेस्ट मैच में आसानी से हरा दिया था.

मोईन अली ने लिखा ये एशेज का पहला टेस्ट मैच था जिसमें मैंने व्यक्तिगत रूप से शानदार प्रदर्शन किया, लेकिन टेस्ट मैच के दौरान एक ऐसी घटना हुई जिसने मुझे परेशान कर दिया. मोईन ने आगे कहा, मैदान पर एक ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट मेरी तरफ मुड़ा और कहा कि टेक दैट ओसामा, मुझे विश्वास करना मुश्किल हो रहा था कि ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी ने मुझे ये क्या कहा, मैं इस बात के चलते गुस्से के मारे लाल हो गया था, मैं कभी क्रिकेट के मैदान पर इतना नाराज नहीं हुआ, मैंने इस घटना का जिक्र अपने साथी खिलाड़ियों से भी किया. मुझे लगा कि उस समय इंग्लैंड के कोच ट्रेवर बैलिस इस घटना की चर्चा तत्कालीन ऑस्ट्रेलियाई कोच डारेन लीमैन से करेंगे.

वहीं जब लीमैन ने ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी से जब इस बारे में पूछा तो उसने यह कहते हुए मना कर दिया कि उसने मुझे टेक दैट पार्ट-टाइमर कहा. मोईन अली ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ी जिस तरह लोगों और खिलाड़ियों का सम्मान नहीं करते और उनके साथ बुरा व्यवहार करते हैं इस कारण मुझे ऑस्ट्रेलिया की टीम बिल्कुल पसंद नहीं है. इंग्लिश टीम ने 2015 की एशेज सीरीज 3-2 से जीती थी.

सुनील गावस्कर ने विराट कोहली की कप्तानी पर फिर साधा निशाना, कहा-फील्ड प्लेसमेंट और गेंदबाजी रोटेशन सीखने की जरूरत

विराट कोहली ने कहा, ‘दिल को मिलता है टेस्ट क्रिकेट खेलने से सुकून’, एडम गिलक्रिस्ट को भा गई उनकी बात

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App