नई दिल्ली: ओपन वाटर की अंतरराष्ट्रीय तैराक मीनाक्षी पाहूजा को खेल प्रेमी जल परी के नाम से भी जानते हैं जिन्होंने स्वीमिंग के क्षेत्र में जितने अभियान किए हैं उससे वह अन्य तैराकों से अलग छवि बनाने में क़ामयाब हो गई हैं। मीनाक्षी दिल्ली यूनिवर्सिटी के एलएसआर कॉलेज में असिस्टेंट प्रोफेसर हैं। उनके नाम ढेरों खिताब हैं। वह न सिर्फ 11 बार की नैशनल मेडलिस्ट हैं बल्कि उनका नाम लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में भी तीन बार दर्ज हो चुका है।

मीनाक्षी को इस बात का मलाल है कि कोविड और लॉकडाउन की वजह से उन्हें इस साल अपना कैलिफोर्निया का अभियान रद्द करना पड़ा। वह इन दिनों अपने अगले अभियान पर शोध कर रही हैं और उसका जल्द ही खुलासा करेंगी। पांच झीलों की यात्रा पांच दिनों में पूरी होने के बारे में उन्होंने बताया कि यह उपलब्धि हासिल करने वाली मैं पहली भारतीय हूं। टेक्स रॉबर्ट्सन हाई लैंड लेक्स चैलेंज (2010), बुकानन झील, इन्क्स लेक, लेक एलबीजे, लेक मार्बल फाल्स और लेक ट्रैविस। मीनाक्षी मानती हैं कि बतौर कॉलेज में पढाने के अलावा ये सब करना बहुत चैलेंजिंग होता है। ओपन वॉटर स्वीमिंग के लिए लम्बे समय तक मैं अवकाश पर भी नहीं जा सकती क्योंकि मेरी कॉलेज में भी ज़िम्मेदारी है।  

 ओपन वॉटर स्विमिंग की चुनौतियों के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि वॉटर की कंडीशंस के अनुरूप ढलना सबसे बड़ा चैलेंज होता है क्योंकि समुद्र में जीव जंतुओं से बचाव करना भी कम चैलेंजिंग नहीं होता। इसके लिए आपके अंदर काफी एंड्यूरेंस होनी चाहिए और इन सबसे ऊपर है मानसिक दृढ़ता। शरीर को पानी के तापमान को बारीकी से समझना होता है जबकि स्वीमिंग पूल का पानी शरीर के लिए बिल्कुल उपयुक्त होता है।

कई बार पानी का बेहद ठंडा होना भी काफी चुनौतीपूर्ण होता है।

खेल और आजीविका के सवाल पर उन्होंने कहा कि मैं नैशनल गेम्स में पूल की तैराकी में लगातार तीन वर्ष चैम्पियन रही। उस समय में अपने करियर के शीर्ष पर थी लेकिन मेरे घर में सीमित संसाधन थे। मेरे पिता चाहते थे कि मैं पहले अपने भविष्य को सुरक्षित करूं।

समुद्री तैराकी के अपने अजीबोगरीब अनुभव के बारे में उन्होंने बताया कि पश्चिम बंगाल के मुर्शीदाबाद में मेरे साथ एक डेड बॉडी पानी में बह रही थी। मैंने उसे ही अपना प्रतियोगी समझ लिया। स्विमिंग के भारत में भविष्य के सवाल पर उन्होंने कहा कि भारत में स्विमिंग बहुत विकसित नहीं हो पाई लेकिन व्यक्तिगत तौर पर तैराक खूब विकसित हुए हैं। भारत में स्विमिंग का मतलब है – वर्क इन प्रोग्रेस।

Kapil Dev On Sachin Tendulkar: कपिल देव बोले- सचिन को नहीं आता था शतक को दोहरे और तिहरे शतक में बदलना

Stuart Broad 500 Wicket Milestone: अभी नहीं हुई शांत विकेट चटकाने की भूख: स्टुअर्ट ब्रॉड

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर