नई दिल्ली. पाकिस्तान की राष्ट्रीय क्रिकट टीम में पहला सिख क्रिकेटर दस्तक देने के लिए तैयार है. इस क्रिकेटर का नाम है महिंदर पाल सिंह है. जी हां ये बात बिल्कुल सच है क्योंकि आपने अभी तक किसी भी सिख प्लेयर को पाकिस्तान की राष्ट्रीय टीम में खेलते नहीं देखा होगा. तेज गेंदबाज महिंदर को पाकिस्तान की नेशनल क्रिकेट एकेडमी में शामिल किया गया है. अब वो प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेलने की तैयार कर रहे हैं. महिंदर का सपना पाकिस्तान के लिए खेलना है. महिंदर को 2016 में युवा उभरते खिलाड़ी के तौर पर भी चुना गया था.

अपने चयन पर महिंदर ने कहा है कि मैं NCA में चयनित होने वाला पहला सिख क्रिकेटर हूं और यहां मेरी कोशिश रहेगी कि कोचिंग के दौरान बारीकी से क्रिकेट के गुर सीखूं. मोहिंदर ने कहा कि प्रथम श्रेणी खेलने के बाद उनका लक्ष्य अब देश के लिए खेलना है. महिंदर ने कहा कि उम्मीद है कि सिख होने के कारण उन्हें आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक पाएगा. बता दें कि पाकिस्तान की क्रिकेट टीम में हिन्दू क्रिकेटर दानिश कनेरिया भी खेल चुके हैं.

जानिए कौन है मोहिंदर पाल सिंह: पांच भाइयों में सबसे बड़े महिंदर पाकिस्‍तान के क्रिकेट में इस स्‍तर तक पहुंचने वाले पहले सिख क्रिकेटर हैं. महिंदर ने कहा कि उन्‍होंने मैट्रिक की पढ़ाई पूरी करने के बाद स्‍थानीय क्‍लबों की तरफ से खेलना शुरू किया था. उन्होंने कहा कि वह लाहौर की मुगलपुरा अकादमी से भी जुड़े रहे हैं. महिंदर के पिता भी क्रिकेटर रह चुके हैं और तेज गेंदबाज ही थे. उनका परिवार आतंकवाद से प्रभावित खैबर एजेंसी से लगभग 15 वर्ष पहले ननकाना साहिब शिफ्ट हो गया था. पिता ने बताया था कि मैं भी पहले प्रतिस्‍पर्धात्‍मक क्रिकेट खेलना चाहता था लेकिन यह इच्छा पूरी नहीं हो सकी क्‍योंकि परिवार को व्‍यवसाय को ननकाना साहिब में स्‍थापित करना था. लेकिन अब मेरा बेटा मेरा यह सपने को पूरा करेगा.

पाकिस्तानी क्लब के लिए खेलने पर मोहम्मद शहजाद पर लगा 4400 डॉलर का जुर्माना

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App