Kapil Dev On Sachin Tendulkar: सचिन तेंडुलकर को दुनिया का सर्वकालिक महान बल्लेबाजों में शामिल किया जाता है. लेकिन कुछ ऐसी चीजें थीं जिन्हें सचिन भी हासिल नहीं कर पाए. भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान कपिल देव के मुताबिक सचिन निर्दयी बल्लेबाज नहीं थे. उन्होंने कहा सचिन इतने निष्ठुर नहीं थे कि वह अपने शतक को 200 या 300 में बदल सकें.

सचिन तेंडुलकर के नाम मार्वेन अट्टापट्टू, वीरेंदर सहवाग, जावेद मियांदाद, यूनिस खान, और रिकी पॉन्टिंग की तरह की तरह टेस्ट क्रिकेट में छह दोहरे शतक हैं. सर डॉन ब्रैडमैन इस लिस्ट में सबसे ऊपर हैं जिनके नाम 12 दोहरे शतक हैं. कपिल देव ने कहा कि सचिन के पास जितनी प्रतिभा थी उतनी मैंने किसी और में नहीं देखी. वह जानते थे कि शतक कैसे लगाना है लेकिन वह कभी निष्ठुर बल्लेबाज नहीं बने. सचिन के पास क्रिकेट में सब कुछ था. वह शतक बनाना जानते थे लेकिन उस शतक को दोहरे शतक और तिहरे शतक में बदलना उन्हें नहीं आता था.

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान और दिग्गज ऑलराउंडर कपिल देव ने का मानना है कि प्रतिभा के मुताबिक सचिन तेंडुलकर के नाम कम से कम तीन तिहरे शतक और 10 डबल सेंचुरी होनी चाहिए थी. उन्होंने कहा, सचिन को कम से कम तीन ट्रिपल सेंचुरी और 10 डबल सेंचुरी लगानी चाहिए थी क्योंकि वह फास्ट बोलर और स्पिनर दोनों को हर ओवर में चौका लगा सकते थे.

सचिन ने भारत के लिए 200 टेस्ट मैच खेले और 15921 रन बनाए. उनका बल्लेबाजी औसत 53.78 का था. टेस्ट क्रिकेट में 51 शतक लगाने वाले सचिन ने अपना पहला दोहरा शतक लगाने में 10 साल का वक्त लिया. न्यूजीलैंड के खिलाफ अहमदाबाद में 217 रन बनाकर उन्होंने अपनी पहली डबल सेंचुरी लगाई.

Stuart Broad 500 Wicket Milestone: अभी नहीं हुई शांत विकेट चटकाने की भूख: स्टुअर्ट ब्रॉड

IPL 2020: फ्रैंचाइजी के मन में सुरक्षा से जुड़े कई सवाल, खाना-पीना, सफर और परिवार जैसे मुद्दों पर फंसा पेंच

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर