नई दिल्ली। चेन्नई सुपर किंग्स के हरफनमौला खिलाड़ी रवींद्र जडेजा इस सीज़न की शुरुआत में टीम के कप्तान बने और फिर 8 मैचों में खराब प्रदर्शन के बाद एमएस धोनी को कप्तानी वापस सौंप दी। वहीं पसली की चोट के कारण उन्हें आईपीएल 2022 के पूरे सीजन से बाहर कर दिया गया था। कप्तान के रूप में जडेजा के प्रदर्शन और उनकी कप्तानी पर भी सवाल उठाए गए और अब फ्रेंचाइजी के साथ उनके संबंधों पर सवाल उठ रहे हैं।

हालांकि सीएसके के सीईओ कासी विश्वनाथन ने कहा है कि इस फ्रेंचाइजी के साथ जडेजा का भविष्य सुरक्षित है, कुछ को लगता है कि यह जडेजा के साथ सीएसके का आखिरी सीजन हो सकता है। टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर आकाश चोपड़ा का भी मानना ​​है कि हो सकता है कि जडेजा और सीएसके इस सीजन के बाद साथ न हों। आपको बता दें कि जडेजा साल 2012 से सीएसके से जुड़े हुए हैं।

आकाश चोपड़ा ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा कि जडेजा इस सीजन में सीएसके के साथ नहीं होंगे और मुझे लगता है कि वह अगले सीजन में भी इस टीम के साथ नहीं होंगे। सीएसके खेमे में ऐसे होता है कि आप नहीं जानते कि क्या हुआ है।कोई खिलाड़ी चोटिल हुआ या गिरा। ऐसा ही कुछ साल 2021 में सुरेश रैना के साथ भी हुआ था। कुछ मैचों के बाद अचानक उन्हें बाहर कर दिया गया।

आकाश चोपड़ा ने सीएसके के प्रदर्शन के बारे में बात करते हुए कहा कि चेन्नई को प्रगति का मौका पाने के लिए जीतते रहना होगा। हालांकि अब यह गणना की बात है, लेकिन जीतना जरूरी है। सब कुछ इस बात से शुरू होता है कि उन्हें मैच जीतना है। अब मुंबई के खिलाफ मैच भी उनके लिए मुश्किल होगा, लेकिन ये दिलचस्प होने वाला है.

यह भी पढ़े:

एलपीजी: आम लोगों का फिर बिगड़ा बजट, घरेलू रसोई गैस सिलेंडर 50 रूपये हुआ महंगा

SHARE

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर