नई दिल्ली. इंडियन प्रीमियर लीग 2019 के सत्र की शुरुआत 23 मार्च से होने जा रही है. इस साल आईपीएल के पहले मुकाबले में चेन्नई सुपर किंग्स और रॉयल चैलेंर्जर्स की टीमें भिड़ेंगी. दोनों टीमों के बीच ये मुकाबला चेन्नई स्थित एम चिदंबरम क्रिकेट स्टेडियम में खेला जाएगा. आईपीएल के प्रत्येक सत्र में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज को ऑरेंज कप अवार्ड में दी जाती हैं. वहीं बॉलिंग में सबसे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज को पर्पल कैप का अवार्ड दिया जाता है. अब तक आईपीएल के 11 साल पुराने इतिहास में कई बॉलर्स पर्पल कप जीत चुके हैं. आज हम आपको इस कड़ी में आईपीएल में पर्पल कप विजेता बॉलर के बारे में बताएंगे.

आईपीएल 2008- सोहैल तनवीर

इंडियन प्रीमियर लीग का पहला संस्करण साल 2008 में खेला गया. इस पहले आईपीएल में पाकिस्तान के बॉलर सोहैल तनवीर राजस्थान रॉयल्स की तरफ से खेले. उन्होंने पूरे टूर्नामेंट के दौरान बेहतरीन बॉलिंग की. उन्होंने आईपीएल 2008 सीजन में कुल मिलाकर 11 मैचों में सबसे ज्यादा 22 विकेट लिए. इस दौरान सोहैल तनवीर एक बार चार विकेट और एक बार पांच विकेट लेने में सफल रहे. सोहैल तनवीर को इस उम्दा प्रदर्शन के लिए पर्पल कैप का अवार्ड मिला.

आईपीएल 2009- आरपी सिंह

इंडियन प्रीमियर लीग के दूसरे सत्र में सबसे कामयाब बॉलर रुद्र प्रताप सिंह (RP Singh) रहे. आरपी सिंह साल 2009 में आईपीएल फ्रेंचाइजी डेक्कन चार्जर्स की ओर से खेले. आरपी सिंह ने 2009 के आईपीएल में 16 मैचों में सबसे ज्यादा 23 विकेट झटके. इस साल उन्होंने एक मैच में चार विकेट भी लिए. उन्हें इस प्रदर्शन के चलते पर्पल कैप का पुरस्कार दिया गया.

आईपीएल 2010- प्रज्ञान ओझा

साल 2010 के इंडियन प्रीमियर लीग में डेक्कन चार्जर्स के बॉलर प्रज्ञान ओझा ने शानदार बॉलिंग का मुजाहिरा किया. प्रज्ञान ओझा ने इस दरम्यान अपनी फ्रेंचाइजी के लिए 16 मैच खेले जिनमें 21 विकेट हासिल किए. आईपीएल में ये दूसरा मौका था जब लगातार दूसरे साल डेक्कन चार्जर्स के बॉलर का दबदबा रहा. प्रज्ञान ओझा को उनके इस प्रदर्शन के लिए पर्पल कैप दी गई.

आईपीएल 2011- लसिथ मलिंगा

आईपीएल के चौथे सत्र में लसिथ मलिंगा की गेंदों ने कहर ढाया. आईपीएल 2011 में लसिथ मलिंगा ने 16 मैच खेले जिनमें सबसे ज्यादा 28 विकेट हासिल किए. इस दौरान वह एक मैच में 5 विकेट ऑउट करने में सफल रहे. मलिंगा की बाउंसर, यॉर्कर, स्लो बाउंसर और स्लो यॉर्कर गेंदों का बल्लेबाजों के पास कोई जवाब नहीं था. उनकी गेंदों पर दुनिया के कई नामी बल्लेबाज आउट होते देखे गए. आईपीएल 2011 में बॉलिंग में धुआंधार प्रदर्शन करने के लिए उन्हें पर्पल कैप अवार्ड मिला.

आईपीएल 2012- मोने मोर्कल

इंडियन प्रीमियर लीग के पांचवें सीजन में दिल्ली डेयरडेविल्स के बॉलर मोने मोर्कल ने परचम लहराया. इस साल मोने मोर्कल ने दिल्ली डेयरडेविल्स का 16 मैचों में प्रतिनिधित्व किया और सर्वाधिक 25 विकेट लिए. मोने मोर्कल की बेहतरीन बॉलिंग के कारण दिल्ली ग्रुप मैचों में टॉप पर रही. मोने मोर्कल को 25 विकेट लेने के लिए पर्पल कैप मिली.

आईपीएल 2013- ड्वैन ब्रावो

साल 2013 में खेले गए आईपीएल के छठे सत्र में पर्पल कैप अवार्ड जीतने में ड्वैन ब्रावो सफल रहे. ड्वैन ब्रावो ने इस साल अपनी गेंदों से बल्लेबाजों को खूब छकाया. ड्वैन ब्रावो ने चेन्नई सुपर किंग्स की ओर से खेलते हुए 18 मैचों में 32 विकेट हासिल किए. आईपीएल के इतिहास में ड्वैन बावो आईपीएल के एक सत्र में सबसे अधिक 32 विकेट लेने वाले पहले खिलाड़ी हैं.

आईपीएल 2014- मोहित शर्मा

इंडियन प्रीमियर लीग 2014 में चेन्नई सुपर किंग्स के बॉलर मोहित शर्मा ने 16 मैचों में सबसे अधिक 23 विकेट हासिल किए. मोहित इस सत्र में एक बार एक मैच में चार विकेट लेने में सफल रहे और उन्हें पर्पल कैप ईनाम में दी गई.

आईपीएल 2015- ड्वैन ब्रावो

इंडियन प्रीमियर लीग के नवें सत्र में एक बार फिर ड्वैन ब्रावो की बॉलिंग का कहर देखने को मिला. चेन्नई सुपर किंग्स की ओर से ड्वैन ब्रावो ने इस बार 17 मैचों में शिरकत की और 26 विकेट हासिल कर पर्पल कैप विनर बने. ये लगातार तीसरा मौका था जब आईपीएल में सीएसके के बॉलर को पर्पल कैप अवार्ड मिला.

आईपीएल 2016- भुवनेश्वर कुमार

साल 2016 के आईपीएल में भुवनेश्वर कुमार ने अपनी बॉलिंग का जलवा बिखेरा. सन राइजर्स हैदराबाद की ओर से खेलते हुए भुवनेश्वर कुमार ने 17 मैचों में 23 विकेट लिए. अपनी इस बेहतरीन बॉलिंग परफॉरमेंस के चलते वह पर्पल कैप जीतने में कामयाब रहे.

आईपीएल 2017- भुवनेश्वर कुमार

इंडियन प्रीमियर लीग 2017 में भी भुवनेश्वर कुमार ने बॉलिंग में गजब ढाया. इस साल भी उन्होंने सनराइजर्स हैदराबाद का प्रतिनिधित्व करते हुए 14 मैचों में 26 विकेट लिए. अपनी स्विंग बॉलिंग के लिए मशहूर भुवनेश्वर कुमार ने अच्छे-अच्छे बल्लेबाजों की जमकर खबर ली. भुवनेश्वर कुमार लगातार दूसरी बार पर्पल कैप अवार्ड जीतने में सफल रहे.

आईपीएल 2018- एंड्रयू टाय

आईपीएल 2018 में किंग्स इलेवन पंजाब के बॉलर एंड्रयू टाय ने पर्पल कैप का खिताब जीता. एंड्रयू टाय ने 14 मैच खेले जिनमें 24 विकेट हासिल किए. आईपीएल के इतिहास में एक सत्र में तीन बार चार विकेट लेने का रिकॉर्ड एंड्रयू टाय के नाम दर्ज है. एंड्रयू टाय ने ये रिकॉर्ड साल 2018 में बनाया था.

IPL 10 Biggest Controversies: किसी ने मारा थप्पड़ तो कोई मैदान पर लड़ पड़ा, ये हैं आईपीएल इतिहास के 10 बड़े विवाद

IPL 10 Biggest Controversies: किसी ने मारा थप्पड़ तो कोई मैदान पर लड़ पड़ा, ये हैं आईपीएल इतिहास के 10 बड़े विवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App