नई दिल्ली.  7 अप्रैल से दुनिया की सबसे लीग आईपीएल की शुरुआत हो रही है. इस बार खिलाड़ियों की शुरुआती नीलामी से लेकर दो पुरानी टीम चेन्नई सुपर किंग्स और राजस्थान रॉयल्स के फिर से आने से रोमांच का बढ़ना तय है. धोनी का चेन्नई में आना और राजस्थान में स्मिथ और स्टोक्स का जाना आईपीएल के रोमांच जबरदस्त होने वाला है. राजस्थान रॉयल्स भी फिर से हल्ला बोलने के लिए पूरी तैयार है. स्टीवन स्मिथ की कप्तानी और शेन वॉर्न की कोंचिंग में टीम काफी अच्छा कर सकती है.

खास बात ये है कि जहां मुंबई इंडियंस, रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर, कोलकाता नाइट राइडर्स जैसी टीमें टी-20 के सुपर स्टार्स से हमेशा लैस रही वहीं रॉयल्स की ताकत हमेशा से ही युवा भारतीय खिलाड़ी रहे, जिन में से कई खिलाड़ियों ने आगे जाकर टीम इंडिया की जर्सी पहनी. हालांकि टीम में जो एक दो नामी खिलाड़ी होते है वह अपना काम बखूबी कर जाते हैं.

हमेशा युवाओं पर किया इस टीम ने भरोसा: आईपीएल के पहले सीजन में स्वप्निल असनोदकर और युसुफ पठान जैसे युवाओं ने टीम को चैंपियन बनाने में अहम भूमिका निभाई तो अगले कई सालों में करुण नायर, संजू सैमसन, धवल कुलकर्णी और स्टूअर्ट बिन्नी जैसे खिलाड़ी इस टीम का चेहरा बनकर सामने आए।. इन सभी ने ना केवल नाम कमाया बल्कि भारतीय टीम में भी अपनी जगह बनाई.

रिश्ता वही, सोच नई: स्टार प्लस की टैग लाइन रिश्ता वही, सोच नहीं इस टीम पर बिल्कुल फिट बैठती है. आईपीएल ऑक्शन 2018 में भी कुछ ऐसा ही देखने को मिला और टीम मैनेजमेंट ने एक बार फिर से युवा भारतीय खिलाड़ियों पर दांव खेला है. हालांकि टीम में कुछ स्टाइलिश विदेशी खिलाड़ियों को भी जगह दी गई है।.टीम में इस बार अजिंक्य रहाणे, संजू सैमसन, राहुल त्रिपाठी, प्रशांत चोपड़ा, स्टीव स्मिथ, डी आर्की शॉट, जोस बटलर जैसे खिलाड़ियों पर बल्लेबाज़ी की जिम्मेदारी है.

ऑलराउंडर्स के दम पर होगा हल्ला बोल!

इस टीम में ऑलराउंडर्स में बेन स्टोक्स, स्टूअर्ट बिन्नी, जतिन सक्सेना और महिपाल लोमलोर जैसे खिलाड़़ी शामिल है. वहीं गेंदबाजी में ये टीम काफी संतुलित दिखाई देती है. टीम में जयदेव उनादकट, धवल कुलकर्णी, अनुरीत सिंह, जोफरा आर्चर, बेन लॉफलिन, दुश्मंता चमीरा जैसे तेज गेंदबाज हैं वहीं स्पिन डिपार्टमेंट में क्रिष्णा गौतम, श्रेयस गोपाल, अंकित शर्मा जैसे बॉलर्स टीम का हिस्सा हैं. टीम की कमान ऑस्ट्रेलिया के स्टीव स्मिथ को सौंपी गई है जो पहले भी रॉयल्स की कप्तानी कर चुके हैं.

क्या है इस टीम की ताकत और कमजोरी ?: टीम में अजिंक्य रहाणे, स्टीव स्मिथ और बेन स्टोक्स और जोस बटलर को छोड़कर कोई बड़ा नाम शामिल नहीं है जिसका मतलब ये है कि टीम में शामिल इन दिग्गजों के कंधो पर रॉयल्स की नैया पार कराने की बड़ी जिम्मेदारी होगी. टीम की सबसे बड़ी ताकत बल्लेबाजी और ऑलराउंडर्स हैं. हालांकि तेज गेंदबाजी लाइनअप तो इस टीम का अच्छा है लेकिन स्पिन विभाग में ये टीम अभी से पिछड़ती हुई नजर आ रही है क्योंकि अब तो हर सीजन में स्पिनर्स का ही जलवा देखने को मिलता है.

कुल मिलाकर देखा जाए तो राजस्थान रॉयल्स इस बार सब पर हल्ला बोल सकती है क्योंकि इस बार तो उसके होम ग्राउंड जयपुर में भी मैच खेलेंगे जाएंगे, जहां इस टीम को भरपूर प्यार और सपोर्ट मिलता है.

IPL 2018: रॉयल चैलेंजर्स बंगलौर के गेंदबाजी कोच आशीष नेहरा का बयान, ‘आईपीएल सिर्फ बल्लेबाजों का गेम नहीं’

IPL 2018: इस बार फिर दिखेगा आईपीएल में धोनी की चेन्नई सुपर किंग्स का दम, ये है पूरी टीम

 

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App