नई दिल्ली: सात अप्रैल को मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में होने वाले इंडियन प्रीमियर लीग के ओपनिंग सेरेमनी में कुछ टीमों के कप्तान हिस्सा नहीं ले पाएंगे. ऐसे में कही न कहीं टीमों के कप्तान के लिए यह किसी झटके से कम नहीं है. क्योंकि इस दिन बड़ा आयोजन होता और इसमें सभी टीमों के कप्तान प्रतिज्ञा लेते हैं. जो कि शुरू से होते आ रहा है. लेकिन इस बार ऐसा होते नहीं दिख रहा है. ओपनिंग सेरेमनी में हिस्सा नहीं ले पाने वाले कप्तानों की उनकी प्रतिज्ञा उद्धाटन मैच से एक दिन पहले मतलब 6 अप्रैल को ही रिकॉर्ड कर ली जाएगी और 7 अप्रैल को ओपनिंग सेरेमनी प्ले कर दिया जाएगा.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक बीसीसीआई के अधिकारियों का कहना है कि अगर सभी टीमों के कप्तान ओपनिंग सेरेमनी में हिस्सा लेते हैं अगले दिन होने वाले मैच में वो टीम से नहीं जुड़ पाएंगे. ऐसे में कहा जा रहा है कि 8 अप्रैल को कोलकाता नाइट राइडर्स, रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू, दिल्ली डेयरडेविल्स और किंग्स इलेवन पंजाब की टीमें अपना पहला मुकाबला खेलेंगी. इसलिए इन टीमों के कप्तान क्रमश: दिनेश कार्तिक, विराट कोहली, गोतम गंभीर और आर अश्विन की रिकॉर्डिंग को ही सेरेमनी में प्ले कर दिया जाएगा.

इस मामले पर बीसीसीआई के अधिकारियों का कहना है कि अगर ओपनिंग सेरेमनी योजना के मुताबिक 6 अप्रैल को होता तो सभी टीमों के कप्तान इसमें शामिल हो सकते थे. लेकिन अब उद्घाटन मैच की तारीख में बदलाव कर 7 अप्रैल कर दिया गया है. ऐसे में अब वे ओपनिंग सेरेमनी में शामिल होते हैं तो उनको अपना पहला मुकाबला छोड़ना पड़ेगा. क्योंकि टीमों के कप्तान सही वक्त पर टीम से नहीं जुड़ पाएंगे. अगर प्रतिज्ञा पहले ही रिकॉर्ड कर ली जाती है तो वो समय रहते अपने टीम से जुड़ जाएंगे. हालांकि आईपीएल ओपनिंग सेरेमनी के लिए 16 मार्च को बीसीसीआई और सुप्रीम कोर्ट की ओर से बनाई गई क्रिकेट प्रशासकों की समिति की बैठक होनी है. इसके बाद ही इस मामले पर कोई आधिकारिक फैसला लिया जाएगा.

IPL 2018: चेन्नई सुपर किंग्स को बड़ा झटका, चोट की वजह से पूरे टूर्नामेंट से बाहर हुए मिचेल सैंटनर

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App