नागपुरः किंग्स इलेवन पंजाब के नवनियुक्त कप्तान ऑफ स्पिनर आर आश्विन ने कहा है कि टीम में मेंटर के रुप में वीरेंद्र सहवाग और सीनियर के रुप में युवराज सिंह की उपस्थिति से उनके कप्तानी में मदद मिलेगी. आश्विन ने कहा कि उन्होंने कभी न कभी सहवाग या युवराज की कप्तानी में खेला है. इसलिए मुझे इन दोनों के साथ सामंजस्य बैठाने में अधिक दिक्कत नहीं होगी, उल्टा यह उनके कप्तानी को प्रभावी ही बनाएगी. गौरतलब है कि आश्विन पहली बार किसी टीम की कप्तानी करने जा रहे हैं.

वैसे आश्विन के पास आईपीएल से पहले अपना कप्तानी कौशल दिखाने का एक और मौका है. वह बुद्धवार से शुरु हुए ईरानी ट्रॉफी मैच में शेष भारत की अगुवाई कर रहे हैं. इसके अलावा उन्होंने कभी भी कोई कप्तानी नहीं की है. इस मैच में आश्विन ने अपने नई हथियार का प्रयोग कर अपने विरोधियों को चेता भी दिया है. दरअसल ऑफ स्पिन गेंदबाजी करने वाले आश्विन ने इस मैच में लेग स्पिन गेंदबाजी भी की. वह हालिया समय में कई बार ऐसा कर चुके हैं. आगामी आईपीएल में कैरम बॉल के साथ लेग स्पिन भी उनका प्रमुख अस्त्र हो सकता है.

लेग-स्पिन पर अश्विन ने पहले बयान भी दिया था कि ऑफ स्पिन गेंदबाजी उनकी रणनीति का अहम हिस्सा हो सकती है. वह अपने 10 साल के करियर से संतुष्ट नहीं हैं बल्कि अपने हथियारों की संख्या बढ़ाने की कोशिश कर रहे हैं. हालांकि ऐसा करना उनके लिए बहुत चुनौतीपूर्ण था लेकिन पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज लक्ष्मीपति बालाजी ने इसमें उनकी काफी मदद की. आश्विन ने कप्तानी के बारे में भी तब कहा था कि यह चुनौतीपूर्ण तो होगी लेकिन मैं चुनौतियों को पसंद करता हूं.

 

 

IPL Season 11 Team Analysis: रोहित शर्मा, हार्दिक पांड्या और जसप्रीत बुमराह के दम पर खिताब बचाने उतरेगी मुंबई इंडियंस

IPL 2018: मुंबई में होने वाले ओपनिंग सेरेमनी में शामिल नहीं हो पाएंगे टीमों के कप्तान, सामने आया यह वजह

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App