नई दिल्ली. देश में खेली जाने वाली क्रिकेट की सबसे मशहूर लीग इंडियन प्रीमियर लीग 2019 की शुरुआत 23 मार्च से हो रही है. पिछले 11 वर्षों से खेले जा रहे आईपीएल का बारहवां सत्र है. आईपीएल 2019 का पहला मैच मौजूदा चैम्पियन चेन्नई सुपर किंग्स बनाम रॉयल चैलेंजर्स बंगलौर के बीच खेला जाएगा. आईपीएल का जहां पिछले 11 वर्षों से सफल आयोजन किया जा रहा है वहीं इस लीग में समय-समय पर कई ऐसे विवाद भी हुए. आइए आज हम आपको आईपीएल के 10 बड़े विवादों के बारे में बताएंगे.

स्लैपगेट

आईपीएल का पहला संस्करण साल 2008 में खेला गया. आईपीएलके इस पहले संस्करण के साथ विवादों का भी दौर शुरु हुआ. आईपीएल के इतिहास में स्लैप गेट सबसे मशहूर विवादों में से एक है. दरअसल 2008 में मुंबई इंडिन्स बनाम किंग्स इलेवन पंजाब के बीच मैच खेला गया. इस मैच में किंग्स इलवेन पंजाब ने मुंबई को हरा दिया. मैच के दौरान उस मैच में मुंबई इंडियन्स की कप्तानी कर रहे हरभजन सिंह ने किंग्स इलेवन पंजाब के एस श्रीसंत को थप्पड़ मारा. हरभजन सिंह ने श्रीसंत को थप्पड़ क्यों मारा ये रहस्य आज भी बना हुआ है.

पाकिस्तान के खिलाड़ियों के आईपीएल में खेलने पर लगी पाबंदी

इंडियन प्रीमियर लीग का दूसरा सबसे बड़ा विवाद साल 2009 में हुआ. 2008 में मुंबई आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान के क्रिकेटर्स के आईपीएल में खेलने पर रोक लगा दी गई. आईपीएल के पहले सत्र में पाकिस्तान की मशहूर खिलाड़ी शाहिद अफरीदी, शोएब अख्तर, यूनुस खान, शोएब मलिक, सोहैल तनवीर और उमर गुल कई फ्रेंचाइजी के लिए खेले थे.

रवींद्र जडेजा पर लगा एक साल का बैन

दो साल राजस्थान रॉयल्स के लिए खेल चुके रवींद्र जडेजा साल 2010 में फ्रेंचाइजी ने उनका कॉन्ट्रैक्ट रिन्यू नहीं किया. राजस्थान रॉयल्स ने उन पर एक साल का बैन लगाया और किसी भी फेंचाइजी से खेलने पर रोक लगा. रवींद्र जडेजा को टीम के खिलाफ गतिविधियों में शामिल पाया गया था. जिसके चलते आईपीएल गवर्निंग बॉडी ने उन पर एक साल का प्रतिबंध लगाया.

चन्नई ने लगाया श्रीलंका क्रिकेटर्स पर बैन

साल 2013 के आईपीएल सीजन में चेन्नई सुपर किेंग्स की ओर से किसी भी श्रीलंका के क्रिकेटर्स को खेलने का मौका नहीं दिया गया. तमिलनाडु सरकार का कहना था कि श्रीलंका के किसी भी खिलाड़ी को चेन्नई में रुकना असुरक्षित है. उस समय श्रीलंका में रहने वाले तमिलों के खिलाफ हिंसक प्रदर्शन हुए थे.

विराट कोहली और गौतम गंभीर का झगड़ा

साल 2013 के आईपीएल में विराट कोहली और गौतम गंभीर के बीच हुई झड़प किसी से छिपी नहीं है. ये घटना कोलकाता नाइट राइडर्स और रॉयल चैलेंजर्स बंगलौर के बीच खेले गए मैच के दौरान हुई. दरअसल 10वें ओवर की पहली गेंद लक्ष्मीपति बालाजी ने विराट कोहली को डाली. विराट ने उस गेंद को हवा में खेला लेकिन स्वीपर कवर पर विराट कैच आउट हो गए. इससे पहले विराट कोहली ने केकेआर के बॉलर प्रदीप सांगवान पर लगातार दो छक्के लगए थे. विराट के आउट होने का जश्न जैसी सभी खिलाड़ी मना रहे थे तो विराट पवेलियन के बजाय उनकी तरफ गए वहीं पर खड़े गौतम गंभीर और विराट के बीच तीखी बहस हुई.

स्पॉट फिक्सिंग

साल 2013 के आईपीएल में एक और बड़ी घटना हुई जिसने झकझोर कर रख दिया. दिल्ली पुलिस ने अपनी जांच में आरोप लगाया कि राजस्थान रॉयल्य की ओर खेलने वाले एस श्रीसंत, अजय चंडीला और अंकित चौहान ने स्पॉट फिक्सिंग की है और इसके पुख्ता प्रमाण हैं. बाद में इन खिलाड़ियों के आईपीएल खेलने पर रोक लगा दी गई.

मिचैल स्टार्क और कीरेन पोलार्ड की तकरार

साल 2014 में मुंबई इंडियन्स और रॉयल चैलेंजर्स बंगलौर के बीच खेले गए मैच में मिचैल स्टार्क और कीरेन पोलार्ड के बीच जबरदस्त तकरार देखने को मिली. उस समय ओवर फेंक रहे मिचैल स्टार्क और कीरेन पोलार्ड के बीच आपस में कुछ बात हुई. इसके बाद जब कीरेन पोलार्ड खेलने के स्टांस लिया तो मिचैल स्टार्क ने रन अप नहीं लिया और ऐसे ही गेंद पोलार्ड की तरफ फेंक दी. पोलार्ड ने भी मिचैल स्टार्क की तरफ बल्ला उछाल दिया. विवाद बढ़ता देख दोनों खिलाड़ियों को क्रिस गेल ने शांत कराया. पोलार्ड पर इसके लिए 75 प्रतिशत मैच फीस का जुर्माना लगा वहीं मिचैल स्टार्क पर 50 प्रतिशत मैच फीस का जुर्माना लगाया गया.

विराट कोहली ने जब तोड़ी बीसीसीआई की गाइडलाइन

साल 2015 के आईपीएल में विराट कोहली की और अनुष्का शर्मा के बीच हुए मुलाकात विवादों रही. दरअसल बारिश के चलते मैच रुका हुआ था इस दौरान विराट कोहली अनुष्का शर्मा से मिलने पहुंच गए. बीसीसीआई की गाइडलाइन के अनुसार नियम ये है कि मैच के दौरान किसी भी अधिकारी और खिलाड़ी को बाहर जाने इजाजत नहीं है.

ल्यूक पोमेरबैक पर लगा छेड़छाड़ का आरोप

साल 2012 के आईपीएल में रॉयल चैलेंजर्स बंगलौर के बल्लेबाज ल्यूक पोमेरबैक महिला के साथ छेड़छाड़ का आरोप लगा. उनके खिलाफ दिल्ली पुलिस में एक अमेरिकी महिला ने शिकायत दर्ज कराई. आरीसीबी ने पोमेरबैक जांच पूरी नहीं होने तक सस्पेंड कर दिया.

चीयरलीडर्स ने किया सनसनीखेज खुलासा

साल 2011 आईपीएल के दौरान साउथ अफ्रीका की चीयरलीडर गैब्रिएला पेसाक्लाटो मैच के बाद क्रिकेटर्स की पार्टी के बारे में ब्लॉग लिखकर हलचल मचाई. मैच के बाद पार्टी के दौरान क्रिकेटर किस तरह का व्यवहार करते हुए इसके बारे में लिखा. जिसके बाद आईपीएल की ओर से उनपर सख्त कार्रवाई की गई और उन्हें चीयरलीडर से हटा दिया गया.

IPL Fastest Centuries: आईपीएल में क्रिस गेल, यूसुफ पठान और डेविड मिलर सहित इन खिलाड़ियों के नाम दर्ज है सबसे तेज शतक लगाने का रिकॉर्ड

IPL Winner List: अब तक 11 बार खेला जा चुका है आईपीएल, जानिए किस सीजन में कौन सी टीम बनी विजेता