नई दिल्ली: टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी रविवार को एक बार फिर अपने पुराने लय में दिखे. इंडियन प्रीमियर लीग 2018 में रविवार को चेन्नई सुपर किंग्स और किंग्स इलेवन पंजाब के बीच रोमांचक मुकाबला देखने को मिला. पंजाब क्रिकेट एसोसिएशन के आईएस बिंद्रा स्टेडियम, मोहाली में धोनी ने उसी अंदाज में बल्लेबाजी की जिसका इंतजार क्रिकेट फैन को काफी दिनों से था. सीमित ओवरों में दुनिया के बेहतरीन फिनिशरों में से एक धोनी ने कल आईपीएल में अपना सर्वाधिक स्कोर किया. इस मुकाबले में टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी किंग्स इलेवन पंजाब की टीम ने 20 ओवर में 197 रन बनाए. जवाब ने चेन्नई सुपर किंग्स महज 4 रन से ये मुकाबला हार गया. इस मैच में धोनी असहनीय पीठ दर्द से परेशान होने के बाद भी बेहतरीन प्रदर्शन किया.

क्रिकेट में धोनी को कैप्टन कूल कहा जाता है. वो जब क्रीज पर आते हैं तो बड़े धैर्य से बल्लेबाजी करते हैं. सबसे खात बात कि जब तक वो क्रीज पर रहते हैं रन बनाने और टीम का जीताने का पूरा जिम्मा अपने कंधों पर लेते हैं. कल भी यही देखने को मिला. 56 रन के स्कोर पर सीएसके को सैम बिलिंग्स के रूप में तीसरा झटका लगा. इसके बाद बाद पांचवें नंबर पर बल्लेबाजी करने के लिए सीएसके के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी बल्लेबाजी करने के लिए आए. एक समय में ऐसा लग रहा था जैसे सीएसके की करारी हार होगी. लेकिन धोनी ने अपनी बल्लेबाजी से मैच को रौमांचक स्थिति में पहुंचा दिया. आखिरी ओवर में 17 रनों की जरूरत थी. आखिरी ओवर में धोनी ने 10 रन बनाए. जबकि ड्वेन ब्रेवो एक रन.

धोनी ने ये रन ऐसे समय में बनाए जब वो पीठ की दर्द से पूरी तरह से परेशान नजर आ रहे थे. मैच खत्म होने के बाद आज एमएस धोनी ने पीटीआई से बात करते हुए कहा है कि पीठ में बुहत दर्द था लेकिन भगवान ने मुझे इतनी ताकत दी है. मुझे खेलने के लिए पीठ की जरूरत नहीं है. मेरे बाजू ही काफी हैं. इसमें दिक्कत की बात नहीं और जब आपको पता चल जाए कि आपकी चोट कितनी है.

IPL 2018: घायल सुरेश रैना को देख फैंस ने कहा- चेन्नई टीम को है आपकी जरूरत

IPL 2018: पर्यावरण संरक्षण के लिए ग्रीन जर्सी पहनकर खेलने उतरती है रॉयल चैलेंजर्स बंगलौर की टीम

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App