कोलकाता. साल 2005 में टीम इंडिया के कप्तान सौरव गांगुली और कोच ग्रेग चैपल क बीच हुई तनातनी और हुए बड़ा विवाद किसी भारतीय से छुपा नहीं है, इस मामले पर कोई ना कोई क्रिकेटर लगातार खुलासा करते रहते हैं, अब इस मामले पर भारत के पूर्व ओपनर और सौरव गांगुली के करीबी रहे वीरेंद्र सहवाग ने भी एक खुलासा किया है, वीरु ने कहा, ‘मैं टेस्ट मैच के दौरान फील्डिंग करते समय थोड़ा आराम करना ठीक समझता था. मेरे अंपायर्स के साथ रिश्ते अच्छे रहे, इसलिए मैं उनसे कहता था कि ब्रेक की जरूरत है और वह पूछते थे कि कितने समय? मैं कहता था कि पेट खराब है तो कम से कम पांच ओवर और वो बोले कि ठीक है. 

जब मैं पवेलियन लौटा तो ‘मैंने ग्रेग चैपल से कहा कि मेरा पेट ठीक नहीं है. इसके बाद मैंने देखा कि ग्रेग चैपल ई-मेल लिख रहे हैं और मैं उनके बिलकुल पीछे बैठा था. वह बीसीसीआई को कुछ लिख रहे थे, इसलिए मैंने ध्यान देना शुरू किया और पाया कि वह ‘दादा’ के बारे में कुछ लिख रहे हैं. फिर मैं जब मैदान में लौटा तो दादा को ई-मेल के बारे में बताया.’ सहवाग का कहना है कि उन्हें गांगुली के खिलाफ चैपल की साजिश का पता चल गया था और उन्होंने गांगुली को इससे आगाह भी कर दिया था. एक किताब के विमोचन के वक्त उन्होंने यह बात कही है.

IPL 2018: शर्दुल ठाकुर का कैच देख सुरेश रैना भी कह देंगे, ऐसा कैच तो मैंने भी नहीं पकड़ा

IPL 2018: ये क्या विराट कोहली की आरसीबी को क्यों चिढ़ा रहे हैं वीरेंद्र सहवाग?

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर