नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट टीम के दिग्गज सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने मंगलवार को संन्यास का ऐलान कर दिया. गंभीर ने अपने संन्यास लेने का फैसला फेसबुक पर एक वीडियो  पोस्ट करते हुए दी. इस वीडियो में गौतम गंभीर ने कहा कि ये जीवन का सबसे मुश्किल फैसला था. गंभीर ने कहा कि उन्हें बहुत दिनों से लग रहा था कि संन्यास लेने का समय आ गया है. अपने विदाई संदेश में गंभीर ने क्रिकेट करियर में मदद करने वालों को सभी लोगों को धन्यवाद दिया है. बताते चले कि गौतम गंभीर लंबे समय से भारतीय टीम से बाहर थे. पिछले साल आईपीएल में दिल्ली डेयरडेविल्स की कमान संभालने वाले गंभीर ने बीच टूर्नामेंट में कप्तानी छोड़ने का फैसला लिया था. गंभीर के संन्यास के फैसले से उनके लाखों प्रशंसकों को  निराशा हुई है. 

गंभीर ने अपने क्रिकेट करियर में भारत को दो बार विश्व विजेता बनाया. साल 2007 में खेले गए टी-20 विश्व कप फाइनल में भारत गौतम की गंभीर पारी के दम पर ही चैंपियन बन पाने में कामयाब हो सका था. इसके बाद साल 2011 में वनडे विश्व कप में भी गंभीर ने फाइनल में बड़ी उपयोगी पारी खेली थी. हालांकि गंभीर को लंबे समय से भारतीय टीम में मौका नहीं मिल पा रहा था.  हाल ही में घरेलू क्रिकेट के गंभीर में उपयोगी पारी खेलें. 

Announcement #Unbeaten

The most difficult decisions are often taken with the heaviest of hearts. And with one heavy heart, I’ve decided to make an announcement that I’ve dreaded all my life. Indian Cricket Team#Unbeaten

Posted by Gautam Gambhir on Tuesday, 4 December 2018

गंभीर ने अपना आखिरी टेस्ट मैच नवंबर 2016 में इंग्लैंड के खिलाफ खेला था. वहीं टेस्ट से इतर वनडे में गंभीर जनवरी 2013 में इंग्लैंड के खिलाफ भारत का प्रतिनिधित्व करते दिखे थे. जबकि गंभीर ने अपना टी-20 मैच पाकिस्तान के खिलाफ साल 2012 में खेला था. साल 2003 में गंभीर ने वनडे क्रिकेट से अपने करियर का आगाज किया था. गंभीर ने अपने करियर में कुल 147 वनडे मैचों में भारत का प्रतिनिधित्व किया. इन 147 मैचों में गंभीर ने 39.68 की औसत से 5238 रन बनाए. वनडे में गंभीर के नाम पर 11 शतक और 34 अर्धशतक दर्ज है. टेस्ट में भी गौतम ने कई गंभीर पारियां खेली है. गंभीर ने कुल 58 टेस्ट की 104 पारियों में 41.96 की औसत से 4154 रन बनाए. टेस्ट में उनके नाम पर 9 शतक और 22 अर्धशतक दर्ज है. टी-20 इंटरनेशनल में गंभीर ने कुल 37 मुकाबले खेले. जिसमें उनके बल्ले से कुल 932 रन निकले. गंभीर और सहवाग की गिनती एक समय दुनिया की सबसे घातक ओपनिंग जोड़ी के रूप में की जाती थी. यह बात और रही कि दिल्ली के इन दोनों दिलेरों को वैसी विदाई नहीं मिली जिसके वो हकदार थे.

साल 2007 में टी-20 वर्ल्ड कप के फाइनल में गंभीर ने पाकिस्तान के खिलाफ 54 गेंदों पर 75 रनों की पारी खेलकर भारत को चैंपियन बनवाया था. इसके साथ ही साल 2011 में भारत में आयोजित वनडे विश्व कप के फाइनल में गंभीर ने श्रीलंका के खिलाफ भारत की ओर से सर्वाधिक 97 रनों की पारी खेली थी. ये गंभीर के करियर की वो दो पारी है, जिसके लिए उन्हें हमेशा याद किया जाता रहेगा. देखें इन दोनों पारियों के वीडियो..

 Gautam Gambhir on Retirement: क्रिकेट से संन्यास लेने पर गौतम गंभीर बोले- जब तक रन बना रहा हूं, खेलता रहूंगा 

Babul Supriyo Suggest MS Dhoni to Retire gracefully: बाबुल सुप्रियो ने महेंद्र सिंह धोनी को दी इज्जत के साथ संन्यास लेने की सलाह

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App