नई दिल्लीः भारतीय टीम के पूर्व बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने साउथैम्पटन टेस्ट में हार के बाद टीम इंडिया के कोच रवि शास्त्री पर जमकर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि कोई भी टीम सर्वश्रेष्ठ कहने से नहीं बल्कि करने से बनता है, जो कि यह टीम कर नहीं रही है. गौरतलब है कि रवि शास्त्री ने इंग्लैंड रवाना होने से पहले इस टीम को अब तक का सर्वश्रेष्ठ टूरिंग टीम कहा था. सहवाग ने कहा कि आप ड्रेसिंग रूम में सिर्फ बैठकर किसी भी टीम को सर्वश्रेष्ठ नहीं बना सकते. इसके लिए टीम के साथ खुद आपको भी मेहनत करनी होगी. सहवाग ने कहा कि टीम के प्रदर्शन की जिम्मेदारी खिलाड़ियों के साथ-साथ टीम मैनेजमेंट पर भी होती है.

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सौरभ गांगुली ने भी रवि शास्त्री और टीम इंडिया के कोचिंग स्टॉफ की आलोचना की. उन्होंने तो कोच रवि शास्त्री और बल्लेबाजी कोच संजय बांगड़ की बर्खास्तगी की मांग तक कर डाली. गांगुली ने भारतीय बल्लेबाजी क्रम की भी आलोचना की. उन्होंने कहा कि यह वह बल्लेबाजी क्रम नहीं है जो चार साल पहले हुआ करती थी. इस बल्लेबाजी क्रम में आत्मविश्वास की बहुत ही ज्यादा कमी है. आजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा में वह आत्मविश्वास नहीं झलकता जो चार साल पहले झलकता था.

गांगुली का निशाना यहां पर विराट कोहली की टीम चयन प्रक्रिया पर था. गौरतलब है कि कोहली इन दो शानदार बल्लेबाजों को जब-तब टीम से बाहर करते रहते हैं. दक्षिण अफ्रीका दौरे पर रहाणे की जगह रोहित शर्मा को तरजीह दी गई थी जबकि इंग्लैंड दौरे पर पहले टेस्ट में पुजारा को बाहर बैठना पड़ा था.

अहम मौकों पर बेहतर प्रदर्शन और निरंतरता के अभाव में इंग्लैंड से पिछड़ रही है टीम इंडियाः सचिन तेंदुलकर

IND vs ENG: अंतिम टेस्ट में युवा पृथ्वी शॉ को मिल सकता है मौका, करूण नायर और रवींद्र जडेजा भी हो सकते हैं अंतिम एकादश में शामिल

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App