सिडनी. भारत और आस्ट्रेलिया के बीच खेली गयी 4 टेस्ट मैचों की सीरीज को भारत ने 2-1 से जीतकर इतिहास रच दिया है. यह पहला मौका होगा जब भारतीय टीम ने 70 सालों में पहली बार आस्ट्रेलिया को उसके घर में हराया है. इस सीरीज के सिडनी में हुए चौथे मैच में भारत ने शुरूआत से ही अपनी पकड़ मजबूत बनायी रखी थी. भारत ने पहली पारी में चेतेश्वर पुजारा, ऋषभ पंत, मंयक अग्रवाल और रवींद्र जडेजा की शानदार बल्लेबाजी के दम पर 622 रनों का पहाड़ सा स्कोर बनाने में सफल रही. जिस के दवाब में आस्ट्रेलिया पूरी तरह बिखर गयी और कुलदीप यादव की बेहतरीन गेंदबाजी के बदौलत 300 रनों पर ऑलआउट होकर फॉलोऑन खेलने पर मजबूर हुई. लेकिन फॉलोऑन के बाद कंगारू टीम केवल 6 रन बना पायी और बारिश ने पूरे मैच को दोबारा शुरू नहीं होने दिया और मैच ड्रा हो गया. ऐसे नें भारत के हाथ से इस सीरीज के 3-1 से जीतने का सुनहरा मौका छूट गया. वहीं आज हम बात करेंगे इस टेस्ट सीरीज में भारत की ओर से जीत के हीरों रहे खिलाड़ियों के बारे में.

चेतेश्वर पुजारा
भारतीय टीम की नई दीवार कहे जाने वाले चेतेश्वर पुजारा ने बल्ले से बखूबी कमाल किया. पुजारा ने इस सीरीज में 3 शतकों का सहायता से 521 रनों बनाये जिसके लिए उनको मैन ऑफ द सीराज चुना गया. साथ ही आखिरी टेस्ट में 193 रनों की बेहतरीन पारी के लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच भी चुना गया. भारत की इस ऐतिहासिक जीत का श्रेय कहीं हद तक पुजारा के शानदार खेल को जाता है.

जसप्रीत बुमराह
टीम इंडिया की तेज गेंदबाजी की धार कहे जाने वाले जसप्रीत बुमराह ने अपनी गेंदबाजी से कहर बरपाते हुए कंगारू बल्लेबाजों को घुटने टेकने पर मजबूर कर दिया. बुमराह ने इस पूरे सीरीज में 21 विकेट लेकर आस्ट्रेलिया के गेंदबाज नाथन लॉयन के साथ बराबरी पर रहे. लेकिन कई सालों से देश के बाहर भारतीय गेंदबाजी पर उठते सवालों को बुमराह ने खारिज कर दिया और साबित कर दिया कि देश के बाहर भी भारत की तेज गेंदबाजी काफी कारगर है.

विराट कोहली
भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली को कंगारू गेंदबाजी काफी रास आती है. इस सीरीज में भी कोहली ने एक शतक और अर्धशतक के अलावा कई उपयोगी पारियों की मदद से 282 रन बनाये. इसके साथ ही अपनी कप्तानी के कुशल नेत्तृव के दम पर कोहली भारत को टेस्ट सीरीज को जिताने में सफल रहे.

View this post on Instagram

Good win. Onto the next one! 🙏

A post shared by Virat Kohli (@virat.kohli) on

 

ऋषभ पंत
इस टेस्ट सीरीज के शुरू होने से पहले सबकी निगाहें भारत के विकेट कीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत पर टिकी हुई थी. सीरीज के शुरूआती मैचों में अच्छे स्टार्ट के बाद लम्बी पारियां नहीं खेल पाये. लेकिन सीरीज के आखिरी मैच पंत ने धांसू शतक जड़ कर पूरी सीरीज 350 रन बनाकर बाकी कसर को निकाल लिया.

मोहम्मद शमी
जसप्रीत बुमराह के बाद इस टेस्ट सीरीज में भारत की ओर से सबसे ज्यादा 16 विकेट लेने वाले मोहम्मद शमी रहे. शमी ने पूरी सीरीज में अपनी गेंदबाजी का लोहा मनवाते हुए कंगारू बल्लेबाजों को चारों खाने चित कर दिया. यही कारण है कि भारत की तेज गेंदबाजी के शानदार प्रदर्शन की बदौलत आस्ट्रेलिया को कोई भी बल्लेबाज पूरे सीरीज में एक शतक नहीं लगा पाया. मार्कस हैरिस ने आस्ट्रेलिया की ओर से सबसे अधिक 258 रन बनाये.

India vs Australia Test Series Highlights: भारत ने ऑस्ट्रेलिया की सरजमीं पर सात दशक बाद जीती टेस्ट सीरीज, कंंगारू टीम को 2-1 से हराया

India vs Australia 4th Test Day 4: भारत ने आस्ट्रेलिया को दिया 31 साल बाद पहला फॉलोऑन

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App