नई दिल्ली. आईसीसी अंडर 19 वर्ल्ड कप की शुरुआत 13 जनवरी से क्राइस्टचर्च के हैग्ले ओवल मैदान पर होगी. आईसीसी अंडर 19 वर्ल्ड कप में भारतीय टीम का पहला मैच ऑस्ट्रेलिया से 14 जनवरी को खेला जाएगा. न्यूजीलैंड में आयोजित होने वाले इस टूर्नामेंट में कुल 16 टीमें हिस्सा ले रही है. ये प्रतियोगिता 22 दिनों तक चलेगी. पृथ्वी शॉ की कप्तानी में अंडर 19 टीम इस टूर्नामेंट में खिताब जीतने का प्रयास करेगी. ये टूर्नामेंट का 12वां एडिशन होगा. भारतीय अंडर 19 टीम इस टूर्नामेंट को तीन बार जीत चुका है. लेकिन भारत 2012 के बाद से खिताब नहीं जीत सका है. आईसीसी अंडर 19 वर्ल्ड कप में सभी 16 टीमों को चार ग्रुप में बांटा गया है. ग्रुप स्टेज में हर टीम 3-3 मैच खेलेगी. भारत को ग्रुप-बी में जगह मिली है जबकि मौजूदा चैंपियन वेस्टइंडीज को ग्रुप-ए में रखा गया है. भारत के ग्रुप में ऑस्ट्रेलिया जिम्बाब्वे और पापुआ न्यू गिनी की टीम शामिल है. भारतीय टीम का पहला 14 जनवरी को ऑस्ट्रेलिया के साथ टौरांगा में खेला जाएगा. इसके बाद भारत का दूसरा मुकाबला 16 जनवरी को पापुआ न्यू गिनी के साथ टौरांगा में खेला जाएगा. इसके बाद भारत का मुकाबला 19 जनवरी को जिम्बाब्वे के साथ टौरांगा में खेला जाएगा. भारतीय अंडर 19 कप्तान पृथ्वी शॉ ने मैच से पूर्व कहा है कि हम एक हफ्ते से यहां आए हुए हैं, अभ्यास अच्छे से चल रहा है. टीम की तैयारी अच्छी रही है. हमारा लक्ष्य विश्व कप जीतने पर है. सबसे अहम बात ये है कि इस टीम के कोच पूर्व दिग्गज खिलाड़ी राहुल द्रविड़ हैं.

भारत 3 बार अंडर 19 वर्ल्ड कप जीत चुका है. वर्ष 2000 में मोहम्मद कैफ की कप्तानी में भारतीय टीम ने ने पहला अंडर 19 वर्ल्ड कप का खिताब जीता था. इसके बाद वर्ष 2008 में विराट कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया ने अंडर 19 विश्व कप जीता. इसके बाद साल 2012 में उन्मुक्त चंद की कप्तानी में भारतीय टीम ने खिताब अपने नाम किया.

ग्रुप टीमें इस प्रकार है:
ग्रुप- ए-वेस्टइंडीज, दक्षिण अफ्रीका, केन्या . न्यूजीलैंड
ग्रुप-बी-भारत, ऑस्ट्रेलिया, जिम्बाब्वे, पापुआ न्यू गिनी
ग्रुप-सी- इंग्लैंड, कनाडा, नामीबिया, बांग्लादेश,
ग्रुप-डी-पाकिस्तान, श्रीलंका, अफगानिस्तान, आयरलैंड

युजवेंद्र चहल के फोटो पर कमेंट्स कर फंसे रोहित शर्मा, मिला इतना जोरदार जवाब

India vs South Africa:दक्षिण अफ्रीका के पूर्व क्रिकेटर लांस क्लूजनर ने कहा-भारतीय क्रिकेटर हार्दिक पांड्या में है बेहतरीन ऑलराउंडर बनने की क्षमता