ओवल, लंदनः भारत और इंग्लैंड के बीच चल रहे सीरीज के आखिरी टेस्ट के आखिरी दिन भारतीय टीम की कोशिश सीरीज नहीं बस इज्जत बचाने की थी जिसमें वह कुछ हद तक कामयाब भी रही. भारतीय टीम 4 में से 3 मैच पहले ही हारकर सीरीज गवां चुकी थी और इस मैच में भी भारतीय टीम को हार मिली. इस तरह सीरीज 1-4 से भारतीय टीम हार गई. लेकिन लोकेश राहुल और ऋषभ पंत ने जिस तरह का खेल आखिरी दिन दिखाया वह काबिल के तारीफ है.

टेस्ट मैच के चौथे दिन इंग्लैंड के दिए गए 464 रनों के बड़े लक्ष्य के दबाव में भारतीय टीम 58 रन पर 3 विकेट गवांकर जूझ रही थी. उसके दो प्रमुख और भरोसेमंद बल्लेबाज विराट कोहली और चेतेश्वर पुजारा आउट होकर पवेलियन में जा चुके हैं. भारतीय टीम को बचाने की जिम्मेदारी आजिंक्य रहाणे और लोकेश राहुल के कंधों पर थी. सलामी बल्लेबाज राहुल 51 गेंदों में 46 जबकि उपकप्तान रहाणे 47 गेंदों में 10 रन बनाकर खेल रहे थे. इन दोनों खिलाड़ियों ने पहले सेशन में अच्छा खेल दिखाया. लेकिन लंच के ठीक पहले भारत को लगातार दो बड़े झटके लगे और इससे भारत पर फिर हार का खतरा बढ़ गया.

इस बीच केएल राहुल और ऋषभ पंत ने अपना शतक पूरा किया. ऋषभ पंत ने छक्के से अपने टेस्ट करियर का पहला शतक पूरा किया. लेकिन केएल राहुल और पंत के आउट होने के बाद भारत की हार सुनिश्चित हो गई. राहुल ने 149 और पंत ने शानदाक 114 रन बनाए. आखिर में जेम्स एंडरसन ने विश्व रिकॉर्ड विकेट लेकर टेस्ट को इंग्लैंड के नाम कर दिया. एंडरसन टेस्ट क्रिकेट में सर्वाधिक विकेट लेने वाले तेज गेंदबाज हो गए हैं. उन्होंने ग्लेन मैक्ग्रा के 563 विकेट के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ा.

इससे पहले टेस्ट मैच के चौथे दिन इंग्लिश टीम ने 8 विकेट पर 423 रन बनाकर अपनी पारी घोषित की. अपना आखिरी मैच खेल रहे एलिएस्टर कुक ने शानदार 143 रन बनाकर खुद को एक बेहतरीन विदाई दी. वहीं कप्तान जो रूट ने भी 125 रनों की शानदार पारी खेली. 

IND vs ENG: ऋषभ पंत ने छक्का मारकर पूरा किया करियर का पहला शतक, कई मामलों में महेंद्र सिंह धोनी को भी छोड़ा पीछे

Ind vs Eng: सुनील गावस्कर के बाद इंग्लैंड में चौथी पारी में शतक बनाने वाले सिर्फ दूसरे भारतीय बने केएल राहुल