नई दिल्ली: 5 जून को भारत ने दक्षिण अफ्रिका को हराकर विश्व कप में जीत के साथ आगाज किया. इस मैच कौ रोहित शर्मा की शानदारी शतकीय पारी ने खास बनाया. इसके अलावा दर्शकों की नजर जब विकेटरकीपर महेंद्र सिंह धोनी के ग्लव्स पर पड़ी को तो सब चौंक गए. इस बार धोनी के ग्लव्स कुछ खास थे. इन ग्लव्स को पहनकर माही ने एक अलग ही अंदाज में पैरा स्पेशल फोर्स को सम्मान दिया. इन ग्लव्स पर ‘बलिदान बैज’ बना हुआ था. लेकिन आईसीसी ने बीसीसीआई से धोनी के इन ग्लव्स से बलिदान बैज को हटाने को कहा है.

आईसीसी की एक अधिकारी क्लेयर फरलॉन्ग ने कहा,’ बीसीसीआई को आईसीसी की ओर से धोनी के ग्लव्स से बलिदान बैज को हटाने के लिए कहा गया है’. आईसीसी की ओर से कहा गया है कि आईसीसी उपकरण और क्लोदिंग रेग्यूलेशन किसी भी अंतर्राष्ट्रीय मैच में किसी भी तरह के संदेश (राजनीतिक, धार्मिक या किसी भी नस्लीय गतिविधी) को दिखाने की अनुमति नहीं देता है. आपको बता दें कि 40वें ओवर में जब धोनी ने यजुविंदर चहल की गेंद पर एंडिले फहलुकवायो को स्टंप आउट किया था, तभी आर्मी का ये खास बैज कैमरे में कैद हो गया था. यह देखकर धोनी के फैन्स काफी उत्साहित हो गए और सोशल मीडिया पर कैप्टन कूल की तारीफ करने लगे.

क्या होता है बलिदान बैज
बलिदान बैज पैराशूट रेजिमेंट के विशेष बलों के पास होता है और हर कोई इसका इस्तेमाल नहीं कर सकता है. इस बैज पर देवनागरी लिपी में हिन्दी में बलिदान लिखा होता है. इसे सिर्फ भारतीय सेना के पैरा कमांडो ही लगा सकते हैं. पैरा स्पेशल फोर्स को पैरा एसएफ भी कहा जाता है और ये इंडियन आर्मी की स्पेशल ऑपरेशन यूनिट होती है. 2016 में पीओके में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक करने वाली टीम पैराएसएफ ही थी.क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी को वर्ष 2011 में प्रादेशिक सेना में मानद ले.कर्नल की उपाधी दी गई थी. ये सम्मान पाने वाले धोनी कपिलदेव के बाद दूसरे क्रिकेटर हैं. धोनी पैरा ट्रूपिंग कीट्रेनी ले चुके हैं. धोनी ने पैरा बेसिक कोर्स पूरा किया है.

 

India vs South Africa ICC World Cup 2019: शोएब अख्तर ने रोहित शर्मा को नहीं इस खिलाड़ी को बताया भारत का अगला विराट कोहली

ICC Cricket World Cup 2019: क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 भारतीय क्रिकेट टीम में शामिल क्रिकेटर्स का नहीं होगा यो यो टेस्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App