नई दिल्ली. क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 का फाइनल मुकाबला 14 जुलाई को लॉर्ड्स पर मेजबान इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच खेला जाएगा. 11 जुलाई को सेमीफाइनल मैच में जिस तरह से इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलिया को एकरफा मैच में शिकस्त दी उससे यही लग रहा है कि इंग्लैंड को वर्ल्ड चैम्पियन बनने शायद कीवी नही रोक पाएंगे. इंग्लैंड के बल्लेबाज जो रूट जिस तरह से सेमीफाइनल मैच में रिवर्स स्वीप लगा रहे थे तो मुझे 1987 क्रिकेट वर्ल्ड कप फाइनल की याद आ गई.

क्रिकेट वर्ल्ड कप 1987 का फाइनल मुकाबला इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच कोलकाता के ईडन गार्डन्स में हुआ. ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 50 ओवर में 5 विकेट पर 253 रन बनाए. पारी की शुरुआत करने आए कंगारू बल्लेबाज डेविड बून और ज्योफ मार्श ने पहले विकेट के लिए 75 रनों की साझेदारी की. डेविड बून 75 रन बनाकर आउट हुए वहीं ज्योफ मार्श ने 24 रनों की पारी खेली.

England Final
  फोटो क्रेडिट (Patrick Eagar)

इसके बाद मध्यक्रम में डीन जोन्स ने 33 और क्रेग मैक्डरमॉट 31 रन बनाकर आउट हुए. छठे नंबर पर बल्लेबाजी करने आए माइक वेलेट्टा ने 31 गेंदों पर धुआंधार 45 रन बनाए. इसके अलावा स्टीव वॉ 5 रन बनाकर नाबाद रहे. इंग्लैंड के ऑफ स्पिनर एडी हैमिंग्स ने सबसे ज्यादा दो विकेट लिए जबकि ग्लैडस्टोन स्माल और ग्राहम गूच को एक-एक विकेट मिला.

इंग्लैंड को क्रिकेट वर्ल्ड कप 1987 का खिताब जीतने के लिए 254 रनों की जरूरत थी. टारगेट का पीछा करे उतरी इंग्लिश टीम की शुरुआत खराब रही. सलामी बल्लेबाज टिम रॉबिन्सन बगैर खाता खोले आउट हो गए. इसके बाद ग्राहम गूच और बिल एथे ने 65 रनों की साझेदारी कर इंग्लैंड को संकट से उबारा. मिडिल ऑर्डर में कप्तान माइक गैटिंग और एलन लैंब ने शानदार बल्लेबाजी कर इंग्लैंड की जीत सुनिश्चित कर दी.

England
 फोटो क्रेडिट (Patrick Eagar)

माइक गैटिंग और एलन लैंब की बल्लेबाजी से कंगारू कप्तान एलन बॉर्डर खासा परेशान थे. वह हर हालत में इस जोड़ी को तोड़ना चाहते थे. इस दौरान उन्होंने अपने पांच बॉलर आजमाए और छठे गेंदबाज के तौर पर खुद बॉलिंग की. माइक गैटिंग जिस समर्पण के साथ बल्लेबाजी कर रहे थे उससे यही लगा कि इंग्लैंड की जीत पक्की है. ऑस्ट्रेलिया धीरे-धीरे इस मुकाबले में बैक फुट पर चला गया.

इस दौरान ऑस्ट्रेलिया के कप्तान एलन बॉर्डर ने हिम्मत नहीं हारी. बॉर्डर बॉलिंग रहे थे. माइक गैटिंग स्ट्राइक पर थे और उस समय इंग्लैंड का स्कोर 135 रन था. बॉर्डर बॉलिंग कर रहे थे. इस दौरान माइक गैटिंग के मन में पता नहीं क्या सूझी कि उन्होंने एलन बॉर्डर की गेंद पर रिवर्स स्वीप खेला. गेंद बल्ले पर आई नहीं और किनारा लेकर विकेटकीपर ग्रेग डायर के दास्तानों में जा समाई. इसके बाद ऑस्ट्रेलिया ने मैच में वापसी की. दूसरे छोर पर बल्लेबाजी कर रहे एलन लैंब को स्टीव वॉ ने बोल्ड आउट किया.

इन दोनों बल्लेबाजों के आउट होने के बाद इंग्लैंड का कोई भी बल्लेबाज कारगर पारी न खेल सका. जब 50 ओवर का खेल समाप्त हुआ तो इंग्लैंड स्कोर बोर्ड पर 8 विकेट पर 248 रन ही दर्ज कर पाया इस प्रकार ऑस्ट्रेलिया ने 1987 का क्रिकेट वर्ल्ड कप महज 7 रनों से जीता. ऑस्ट्रेलिया की ओर से एलन बॉर्डर और स्टीव वॉ ने दो-दो विकेट लिए. जबकि साइमन ओ डोनेल और क्रेग मैक्डरमॉट को एक-एक विकेट मिला. ये ऑस्ट्रेलिया का पहला क्रिकेट विश्व कप खिताब था.
क्रिकेट के खेल में एक शॉट की कितनी अमहमियत होती है ये शायद माइक गैटिंग और इंग्लैंड की टीम से बेहतर कोई नहीं जानता होगा. जब कभी 1987 क्रिकेट वर्ल्ड कप की चर्चा होती है तो माइक गैटिंग का नाम जरूर लिया जाता है. अगर माइक गैटिंग ने वो गैर जिम्मेदाराना रिवर्स स्वीप न खेला होता तो इंग्लैंड 1987 में ही विश्व विजेता बन जाता. वर्षों तक माइक गैटिंग को उनका वह स्ट्रोक सालता रहा.

इंग्लैंड 27 साल के लंबे अंतराल के बाद क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 के फाइनल में पहुंचा है और दो दिन बाद यानी 14 जुलाई को इंग्लैंड बनाम न्यूजीलैंड फाइनल मुकाबला लॉर्डस पर होगा. जहां इंग्लैंड की टीम न्यूजीलैंड के खिलाफ पहली बार विश्व विजेता बनने के लिए अपनी पूरी ताकत झोंकेगी. इस बार इंग्लैंड के वर्ल्ड चैम्पियन बनने के ज्यादा चांस है. बस जरूरत इस बात की है कि अतिविश्वास और गलत शॉट सिलेक्शन से बचना होगा. नहीं तो एक गलत शॉट के चलते हाथ से वर्ल्ड कप फिसल सकता है.

ICC Cricket World Cup 2019 England Beats Australia in 2nd Semi Final Match: वर्ल्ड कप के दूसरे सेमीफाइनल में इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलिया को 8 विकेट से हराया, 14 जुलाई को न्यूजीलैंड के साथ लॉर्ड्स में होगा फाइनल मुकाबला

Rohit Sharma Emotional post: रोहित शर्मा ने ट्वीट कर सेमीफाइनल में 30 मिनट के खराब खेल को बताया हार का जिम्मेदार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App