मुंबईः इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे वन डे मैच की समाप्ति के बाद जिस तरह से धोनी ने अंपायर से गेंद ली थी, उसके बाद से ही उनके संन्यास पर अटकले लगनी शुरू हो गई थी. लेकिन बाद में धीरे-धीरे इस पर चीजें साफ हुई. पहले टीम मैनेजमेंट ने इस पर आकर सफाई दी थी. तब टीम के कोच रवि शास्त्री ने कहा था कि उन्होंने रिवर्स स्विंग को परखने के लिए गेंद अंपायर से ली थी. अब धोनी की भी इस पर सफाई आ गई है.

पूर्व भारतीय कप्तान ने मुंबई में एक प्रमोशनल के इतर कहा कि उन्होंने अंपायरों से गेंद इसलिए ली थी क्योंकि उन्हें जानना था कि आखिर भारतीय गेंदबाजों को रिवर्स स्विंग क्यों नहीं मिल रहा था. धोनी ने कहा कि पारी के बाद गेंदें आईसीसी की किसी काम की नहीं रह जाती. इसलिए उन्होंने अंपायर से निवेदन किया कि क्या वह गेंद ले सकते हैं. इस पर अंपायर ने गेंद धोनी के हाथ में थमा दी. धोनी ने भी ड्रेसिंग रूम में आकर गेंद गेंदबाजी कोच भरत अरूण के हवाले कर दिया.

धोनी ने कहा कि अगले साल इंग्लैंड में लगभग इन्ही कंडीशन में विश्व कप होना है इसलिए जरूरी है कि हर उस चीज को जांच परख लिया जाए, जिससे विश्व कप में टीम का भला हो. उन्होंने टीम के गेंदबाजों की मदद के लिए गेंद अंपायर से मांगी थी, ताकि वे पुराने गेंद पर प्रैक्टिस कर सकें और रिवर्स स्विंग का भी अंदाजा लगाया जा सके. कोहली के बारे में धोनी ने दो टूक कहा कि वह महानतम बनने के करीब हैं.

महानतम बनने के करीब विराट कोहली, कैप्टन कूल महेंद्र सिंह धोनी ने लगाई मुहर

VIDEO: जब महेंद्र सिंह धोनी ने बोला वणक्कम, कहा- इस आईपीएल में पूरी तमिल सीख लूंगा

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App