नई दिल्लीः गुरूवार को देश की सर्वोच्च अदालत सुप्रीम कोर्ट ने समलैंगिकता के मामले में अपना फैसला सुनाया. 5 जजों वाली संवैधानिक पीठ ने धारा 377 को गैर-कानूनी करार देते हुए समलैंगिकत संबंधों को वैध ठहराया है. बात करें समलैंगिक जोड़ों कीं तो भारत के तो नहीं लेकिन अन्य देशों के कई क्रिकेटर्स ऐसे हैं, जिन्होंने खुले तौर पर अपने गे और लेस्बियन होने की बात को स्वीकारा और एक-दूसरे से शादी कर सभी को हैरान कर दिया.

दक्षिण अफ्रीका की महिला क्रिकेट टीम की कप्तान डेन वेन निकर्क ने जब सबके सामने खुद के लेस्बियन होने की बात कबूली तो एक पल के लिए उनके फैन्स को यकीन नहीं हुआ. उनके फैन्स को विश्वास तो तब हुआ जब निकर्क ने अपनी ही टीम की तेज गेंदबाज मारिजाने कैप से शादी कर ली. यह कपल एक-दूसरे से शादी कर बेहद खुश है और इनकी शादीशुदा जिंदगी काफी बेहतर चल रही है. 

न्यूजीलैंड वीमेंस क्रिकेट टीम में शामिल एमी सैतरवेट भी समलैंगिक हैं. उन्होंने अपनी ही टीम की क्रिकेटर ली ताहियू से शादी कर सबको चौंका दिया. आस्ट्रेलिया की एलेक्स ब्लैकवेल ने भी इस बात को कबूल किया कि वह समलैंगिक हैं. ब्लैकवेल ने इंग्लैंड की महिला खिलाड़ी लिंसे एस्क्यू से शादी रचाई है. इंग्लैंड के पुरूष क्रिकेटर स्टीव डेनिस ने भी खुद के गे होने की बात कबूल की. वहीं पूर्व क्रिकेटर एलेन हैंसफोर्ड ने भी सामाजिक तौर पर खुद के समलैंगिक होने की बात स्वीकारी थी.

गौरतलब है कि भारत में आज भी समलैंगिक होना कानूनन अपराध है. सेक्स वर्करों के अधिकारों के लिए लड़ने वाली कई सामाजिक संस्थाएं आईपीसी की धारा-377 में समलैंगिकता को अपराध बताने वाले क्लॉस को खत्म कराने की लड़ाई लड़ रही हैं. मंगलवार से एक बार फिर सुप्रीम कोर्ट इस मामले की सुनवाई कर रहा है जिससे तय होगा कि हमारे देश में समलैंगिकता अपराध है या नहीं.

Section 377 hearing LIVE updates: आज की सुनवाई खत्म, गुरुवार तीसरे दिन भी जारी रहेगी बहस

धारा 377: समलैंगिकता पर बोले सुब्रमण्यम स्वामी- होमोसेक्सुअलिटी हिदुंत्व के खिलाफ, बीमारी है ये

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App