मॉस्को: रूस में इस वक्त फीफा विश्व कप 2018 का खुमार पुरी दुनिया के लोगों के सिर चढ़कर बोल रहा है. वहीं दूसरी तरफ एक बार फिर रूसी युवतियों के सेक्स संबंध स्थापित को लेकर पॉपुलर ब्लॉगर यूरी डूड ने बयान दिया है. जो इस समय सुर्खियों में बना हुआ है. इससे पहले भी इस बात को लेकर बहस छिड़ चुकी है. रूस के मशहूर ब्लॉगर और पेशे से स्पोर्ट्स जर्नलिस्ट यूरी डूड ने कहा है कि रूसी युवतियां किसके साथ सेक्स संबंध स्थापित करें, यह उनकी पसंद होनी चाहिए. यूरी डूड ने कहा है कि युवतियों को आजाद छोड़ें और हमें उनकी पसंद का सम्मान करना चाहिए.

रूस के मशहूर ब्लॉगर ने एक ब्लॉग पोस्ट कर लिखा है कि हमारी तुलना में विदेशी कहीं ज्यादा आकर्षित होते हैं, क्योंकि वे जवानी के दिनों में ही नहीं, बल्कि अपने बुढ़ापे के वक्त भी खुद को हमेशा फिट रखते हैं. उन्होंने आगे लिखा कि वे खुले विचारों के होते हैं. यूरी डूड ने लिखा कि युवतियों को अकेला छोड़ दो, वे तय करेंगी कि उन्हें किसके साथ सेक्स संबंध बनाना है. अक्सर बड़े टूर्नामेंटों के दौरान इस तरह की बाते सामने आती ही रहती हैं.

इससे पहले रूस की एक वरिष्ठ सांसद तमारा प्लैटनयोवा ने कहा था कि रूस में हो रहे फुटबॉल विश्व कप के दौरान रूसी महिलाओं को अश्वेत यानी काले विदेशियों के साथ संबंध नहीं बनाने चाहिए क्योंकि ऐसा करने से वो महिलाएं सिंगल मां बन जाएंगी और उनसे पैदा होने वाला बच्चा भी गोरा न होकर मिक्सड ब्रीड का होगा.

जिसकी वजह से भविष्य में आगे चलकर समस्या खड़ी हो सकती है. इसके अलावा प्लैटनयोवा ने कहा कि जो रूसी महिलाएं विदेशियों से शादी करती हैं उनकी शादी भी ज्यादा दिन तक नहीं चलती है. बता दें कि प्लैटनयोवा रूस में बच्चों, महिलाओं और परिवारों के लिए संसद की समिति की प्रमुख हैं. वहीं राष्ट्रपति पुतिन के प्रवक्ता पेस्कोव ने कहा था कि रूस की महिलाओं की बात है तो वे यह फैसला खुद से लें, क्योंकि वे दुनिया की सर्वश्रेष्ठ महिलाएं हैं. उनके किसके साथ सेक्स संबंध स्थापित करना है.

मौत की झूठी खबर के बाद कौन है वो शख्स जिसके लिए डिएगो माराडोना ने रखा 10 हजार डॉलर का इनाम

FIFA World Cup 2018: यहां देखें फीफा वर्ल्ड कप का भारतीय समयानुसार नॉकआउट राउंड का पूरा शेड्यूल

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App