मॉस्को: अर्जेंटीना के स्टार फुटबॉलर रहे डिएगो माराडोना ने अपनी मौत की खबर फैलने से बेहद नाराज है. यहां तक माराडोना ने उस रिपोर्ड के सूत्र को पहचानने के लिए 10,000 डॉलर की पेशकश की है. बता दें कि फीफी वर्ल्ड कप 2018 में नाइजीरिया और अर्जेंटीना के बीच खेले गए मुकाबले के बाद ऐसी अफवाह उड़ी थी कि माराडोना की मौत हो गई है. यह रिपोर्ट व्हाट्सएप के वॉइस मैसेज के जरिए फैलाई गई.

जिसमें अर्जेंटीना के भाषा में एक व्यक्ति यह कह रहा है कि 57 वर्षीय माराडोना को अस्फताल में भर्ती कराया गया है और दिल का दौरा पड़ने से उनकी मौत हो गई है. इस मैसेज के बाद पूरे माराडोना के फैंस भी चिंतित हो गए. इस मैसेज पर लोग इसलिए भी विश्वास कर लिए थे क्योंकि माराडोना मैच के दौरान बीमार हो गए. यहां तक की मैच खत्म होने के बाद उन्हों लोगों की मदद से सीट पर ले जाया गया था. हालांकि बाद में मोर्ला ने कहा कि मैराडोना को रक्तचाप सबंधी समस्या हुई है.

जिसके बाद यह खबर जब डिएगो माराडोना को मिली की उनकी मौत की झूठी खबर फैलाई जा रही है तो उन्होंने उस रिपोर्ट के सूत्र को पहचानने वाले को 10 हजार डॉलर के इनाम की पेशकश कर दी है. हालांकि अभी तक रिपोर्ट के सूत्र को खोजने में सफलता नहीं मिली है. वहीं कुछ लोग माराडोना की ईनामी राशि सुनकर आश्चर्य चकित हो गए.

हालांकि माराडोना की उपस्थिति में उनकी टीम ने नाइजीरिया को 2-1 से मात देते हुए नॉक आउट राउंड में जगह पक्की की थी. अर्जेंटीना की जीत के बाद माराडोना को जश्न मनाते हुए भी देखा गया था. उनकी कई फोटो भी सामने आई थी जिसमें वो अपनी टीम के साथ-साथ फैंस का अभिवादन करते हुए नजर आए थे. फोटो में उनके साथ कुछ लोग और भी नजर आ रहे हैं जो मैच देख रहे हैं.

FIFA World Cup 2018: यहां देखें भारतीय समयानुसार नॉकआउट राउंड का पूरा शेड्यूल

क्या एक रिपोर्टर की मां के दिए लाल रिबन से मेसी ने बचाई अर्जेंटीना की लाज ?

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App