दो साल पहले ऑस्ट्रेलिया का पांच मैचों की वनडे सीरीज़ में क्लीन स्वीप और फिर वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया को पटखनी और पिछले दिनों टी-20 क्रिकेट में भी इंग्लैंड के हाथों हार… ज़ाहिर है कि ऑस्ट्रेलिया इन तीनों घटनाओं को शायद ही भुला पाए। पिछले दिनों टी-20 सीरीज़ में भी उसने एक तरह से घुटने टेक दिए थे और उसकी कई बुनियादी समस्याएं सामने आई थीं।

वनडे में इंग्लैंड और भी मज़बूत है। वो न सिर्फ दुनिया की नम्बर एक टीम है बल्कि उसके पास इस समय कई मैच विनर मौजूद हैं जो अपने पूरे शवाब पर हैं। उसके पास सधा हुआ बॉलिंग अटैक है जो अपनी कंडीशंस का भरपूर फायदा उठाते हैं। वहीं उसकी बल्लेबाज़ी में भी दम है। खासकर डेविड मालान का व्हाइट बॉल क्रिकेट में बेहतरीन प्रदर्शन, उनके प्रदर्शन की निरंतरता और शुरुआती ओवरों में ऊंचे शॉट लगाने की क्षमता दोनों टीमों का एक बड़ा अंतर साबित हो सकती है। अपनी इसी खूबी के दम पर मालान आज टी-20 क्रिकेट में दुनिया के नम्बर एक बल्लेबाज़ बन गए हैं। अगर कप्तान इयान मोर्गन की उंगली की इंजरी समय पर ठीक हो जाती है तो वह मालान के अलावा बटलर और टॉम बैंटन के साथ विपक्षी आक्रमण की धज्जियां उड़ा सकते हैं। बाकी निचले क्रम में उसके पास मोइन अली, सैम करन और क्रिस वोक्स भी अपनी टीम को संकट से उबारकर मैच जिताने का माद्दा रखते हैं।

इतना ही नहीं, जिस टीम में चार-चार ओपनर और चार-चार विकेटकीपर हों, उससे आप इस टीम की बेंच स्ट्रैंथ का अंदाज़ा लगा सकते हैं। सवाल यह है कि जेसन राय अगर पूरी तरह फिट हैं तो क्या वह बटलर के साथ पारी की शुरुआत करेंगे। वैसे भी बटलर का प्रदर्शन जितना अच्छा बतौर ओपनर रहा है, वैसा निचले क्रम में नहीं आ रहा। न औसत में और न ही स्ट्राइक रेट में। इसके अलावा उसके पास बेयरस्टो और टॉम बेंटन जैसे आक्रामक बल्लेबाज़ मौजूद हैं। यहां तक कि 2015 के वर्ल्ड कप में मोइन अली भी पारी की शुरुआत कर चुके हैं। जोफ्रा आर्चर और मार्क वुड को पाकिस्तान के खिलाफ टी-20 में जगह नहीं मिली थी लेकिन इंग्लैंड ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ कोई जोखिम नहीं उठाना चाहता और उसने इन दोनों को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी-20 के बाद टेस्ट में भी जगह दी है। अब सम्भव है कि इन दोनों में से एक को अंतिम 11 में जगह मिले क्योंकि उसके पास करन बंधुओं के अलावा साकिब महमूद के रूप में एक स्पीडस्टर मौजूद है।

वहीं ऑस्ट्रेलिया की टीम वनडे रैंकिंग में पांचवें स्थान पर लुढ़क गई है। ज़ाहिर है कि न तो उसकी दाल भारत में गली और न ही साउथ अफ्रीका में। उसने न सिर्फ ये दोनों सीरीज़ गंवाई बल्कि उस साउथ अफ्रीका टीम के हाथों व्हाइट वॉश का शिकार हुई जो इस समय पुनर्गठन के दौर से गुजर रही है। गनीमत है कि ये टीम किसी तरह न्यूज़ीलैंड से एकमात्र वनडे मैच जीतने में सफल हो गई जबकि बारिश ने उसके दो मैच धो डाले। इस टीम की सबसे बड़ी कमज़ोरी ग्लेन मैक्सवेल और स्टीव स्मिथ का फॉर्म में न होना है। दोनों मैच विनरों के फॉर्म में न होने से ऑस्ट्रेलिया की टीम बैकफुट पर है। मिचेल मार्श ने लमबे समय के बाद वापसी करते हुए इंग्लैंड के खिलाफ तीसरा टी-20 ज़रूर जिताया है लेकिन वह भी अक्सर तेज़ बल्लेबाज़ी के दबाव में बिखर जाते हैं। टीम वॉर्नर और फिंच पर ज़रूर से ज्यादा निर्भर है। मध्य क्रम में उसके पास एकमात्र भरोसे के खिलाड़ी मार्नस लैबुशेन हैं जिनका औसत 50 रन प्रति पारी से ऊपर है। बाकी स्टायनिस, एश्टन एगर और मैथयू वेड जितने रन बना दें, उतना ऑस्ट्रेलिया के लिए यह बोनस है।  

शायद इन्हीं सब बातों को ध्यान में रखते हुए ऑस्ट्रेलिया ने अपने अटैक में छह तेज़ गेंदबाज़ों को शामिल किया है। मिचेल स्टार्क और पैट कमिंस के पास रफ्तार है जबकि हैज़लवुड के पास इंग्लैंड की कंडीशंस के अनुकूल गेंदबाज़ी। एंड्रयू टाई खासकर डेथ ओवर में यॉर्कर से कहर बरपाने का माद्दा रखते हैं। स्पिन बॉलिंग में उसके पास लेग स्पिनर एडम ज़ैम्पा, बाएं हाथ के स्पिनर एश्टन एगर और ऑफ स्पिनर नाथन लॉयन हैं। इनमें लॉयन  के पास तजुर्बा है जबिक एगर पॉवर प्ले के बढिया गेंदबाज़ साबित हुए हैं। ज़ैम्पा को ज़रूर अपनी लाइन पर कंट्रोल करने की ज़रूरत है वहीं इंग्लैंड के पास आदिल रशीद के रूप में एकमांत्र भरोसे का लेगस्पिनर मौजूद है जबकि ऑफ स्पिनर मोइन अली भी कई मौकों पर ब्रेकथ्रू दिलाने की क्षमता रखते हैं। मैच ओल्ड ट्रैफर्ड मैदान पर है जहां गेंद थोड़ा रुककर आती है जिससे स्पिनरों के लिए भी यहां अच्छे अवसर हैं। कुल मिलाकर ऑस्ट्रेलिया की उम्मीदें पूरी तरह से  गेंदबाज़ी पर निर्भर हैं।

(लेखक वरिष्ठ खेल पत्रकार एवं टीवी कमेंटेटर हैं)  

Australia vs England T20 2020: वनडे सीरीज से पहले स्टीव स्मिथ और ग्लेन मैक्सवेल की फॉर्म चिंता का विषय: रमन भनोट

Koneru Humpy Interview: धैर्य, पॉज़िटिव रुख और लगातार अभ्यास का मिला फायदा : कोनेरू हम्पी

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर