लंदनः इंग्लैंड के सीमित ओवर के कप्तान इयान मॉर्गन ने बयान दिया है कि वह टीम के हित के लिए खुद टीम से बाहर होने को तैयार हैं. इयान मॉर्गन ने स्काई स्पोर्ट्स को दिए एक इंटरव्यू में कहा कि अगर उनके बाहर होने से टीम का हित होता है और टीम विश्वकप जीत सकती है, तो वह ऐसा कर सकते हैं. इंग्लिश कप्तान ने कहा कि टीम के हित के लिए वह कुछ भी करने को तैयार हैं. वह इससे पहले भी टीम से खुद को बाहर कर चुके हैं. युवाओं को मौका देने की बात कहते हुए उन्होंने खुद को टेस्ट टीम से बाहर कर लिया था.

मॉर्गन ने कहा कि यह एक मुश्किल फैसला है. लेकिन ईमानदारी इसी में है कि अगर आप टीम के लिए उपयोगी नहीं रहें तो आप को खुद को इससे बाहर हो जाना चाहिए. मॉर्गन ने कहा कि अगर आप एक कप्तान के तौर पर अपने आप को बाहर करते हो तो यह लोगों के लिए एक उदाहरण होता है कि टीम में किसी की भी जगह पक्की नहीं है, कप्तान की भी नही. उन्होंने कहा कि हम इस टीम के साथ काफी आगे आए हैं. गौरतलब है कि पिछले कुछ सालों में इंग्लैंड की सीमित ओवरों की टीम ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया है.

वह इस समय वन डे रैंकिंग में पहले स्थान पर है. मॉर्गन की टीम ने पिछले कुछ सालों में जैसा प्रदर्शन किया है उससे इस टीम को अगले साल 2019 में होने वाले विश्व कप का प्रबल दावेदार माना जा रहा है. इससे पहले इयान मॉर्गन इंग्लैंड को टी-20 विश्व कप दिला चुके हैं.

इंग्लैंड में टी-20 की जगह लेगा 100 बॉल क्रिकेट, कुछ ऐसा रहेगा फॉर्मेट

VIDEO: 15 चौकों और 23 छक्कों की मदद से डार्सी शॉर्ट ने खेली लिस्ट ए क्रिकेट की तीसरी सबसे बड़ी पारी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App