बेंगलुरु: बेंगलुरु में आयोजित हुए खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स में देश भर की तकरीबन 189 यूनिवर्सिटी ने हिस्सा लिया .जिसमें 4000 खिलाड़ियों ने 20 प्रतियोगिताओं जिसमें तीरंदाजी, एथलेटिक्स, बैडमिंटन, बास्केटबॉल, मुक्केबाजी, तलवारबाजी, फुटबॉल, हॉकी, जूडो, कबड्डी, निशानेबाजी, तैराकी, टेनिस, टेबल टेनिस, वॉलीबॉल, भारोत्तोलन, कुश्ती और कराटे जैसे खेलों में कुल 275 स्वर्ण पदक दांव पर थे. इस बार खेलो इंडिया विश्वविद्यालय खेलों से स्वदेशी खेल मल्लखंब और योगासन को भी जोड़ा था. खेलों के इस महाकुंभ में राजस्थान की ओपीजेएस यूनिवर्सिटी के खिलाड़ियों ने शानदार प्रदर्शन करते हुए अंक तालिका में 17 वा स्थान हासिल किया. वहीं अगर राजस्थान प्रदेश की बात करें तो सभी सरकारी और प्राइवेट यूनिवर्सिटी में से ओपीजेएस यूनिवर्सिटी टॉप 20 में जगह बनाने वाली पहली यूनिवर्सिटी रही .महिला रेसलिंग में यूनिवर्सिटी ने गोल्ड मेडल की हैट्रिक लगाई .76 किलोग्राम वर्ग में पूजा ने गोल्ड मेडल, 72 किलोग्राम वर्ग में रितिका ने गोल्ड मेडल ,59 किलोग्राम वर्ग में पुष्पा ने गोल्ड मेडल जीता. वही कोमल दलाल ने 65 किलोग्राम वर्ग में कांस्य पदक जीता साथ ही दीक्षा मलिक ने 62 किलोग्राम वर्ग में कांस्य पदक जीता. वही महिला रेसलिंग में खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स मैं ओपीजेएस यूनिवर्सिटी ने पहले स्थान की ट्रॉफी प्राप्त की .पुरुष रेसलिंग में 92 किलोग्राम वर्ग में अनिल ने गोल्ड मेडल जीता . ओपीजेएस यूनिवर्सिटी के मुक्केबाजों ने भी पदकों पर जमकर पंच लगाए .मुक्केबाजी में ओपीजेएस यूनिवर्सिटी को तीन मेडल प्राप्त हुए. जिसमें अक्षय कुमार ने 63 किलोग्राम भार वर्ग में गोल्ड मेडल मनीष ने 57 किलो भार वर्ग में सिल्वर मेडल और युवराज ने 54 किलोग्राम भार वर्ग में ब्रॉन्ज मेडल जीता.वही बहल में आयोजित हुए इंटर यूनिवर्सिटी खेलों में ओपीजेएस यूनिवर्सिटी ने दूसरा स्थान हासिल किया था। एमडीयू यूनिवर्सिटी पहले स्थान पर थी लेकिन अब ओपीजेएस यूनिवर्सिटी ने एमडीयू यूनिवर्सिटी को पछाड़कर महिला रेसलिंग में पहला स्थान हासिल कर लिया है

स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी के तौर पर उभर रही ओपीजेएस यूनिवर्सिटी

ओपीजीसी यूनिवर्सिटी कि अगर खेलों की बात करें तो यूनिवर्सिटी का सफर शानदार रहा है यूनिवर्सिटी ने इससे पहले भी कई प्रतियोगिताओं में 50 से ज्यादा पदक जीते हैं .खेलों में यूनिवर्सिटी जिस तरीके से लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रही है उसकी सबसे बड़ी वजह है यूनिवर्सिटी के फाउंडर डॉ जोगिंदर सिंह खुद एक अच्छे खिलाड़ी रहे हैं. उन्होंने राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई पदक जीते इसलिए उनका खेलों के प्रति काफी रुझान है. यूनिवर्सिटी में खेलों के लिए हर आधुनिक तकनीक को आजमाया जा रहा है. खेलों के लिए ओपीजेएस यूनिवर्सिटी में कई राष्ट्रीय स्तर के अच्छे देशी और विदेशी कोच है. ओपीजेएस यूनिवर्सिटी कैंपस में भी तकरीबन सभी खेलों के इंडोर और आउटडोर स्टेडियम मौजूद है जिसमें खिलाड़ी प्रैक्टिस करते हैं जिसमें रेसलिंग, बॉक्सिंग, वॉलीबॉल ,हैंडबॉल फुटबॉल ,स्विंग कूल, बैडमिंटन की सुविधाएं मौजूद हैं

यूनिवर्सिटी में खेलों से संबंधित कोर्स

वहीं अगर बात यूनिवर्सिटी में संचालित हो रहे कोर्सों की की जाए तो कई ऐसे फोर्स है जो खेलों से संबंधित है. जैसे बीपीएड, डीपीएड, सीपीएड, बीपीई,एमपीई, सीपी ई आदि शामिल है.

य़ह भी पढे:

एलपीजी: आम लोगों का फिर बिगड़ा बजट, घरेलू रसोई गैस सिलेंडर 50 रूपये हुआ महंगा

SHARE

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर