नई दिल्ली. भारत के पूर्व बल्लेबाज दिनेश मोंगिया ने मंगलवार को खेल के सभी प्रारूपों से संन्यास लेने की घोषणा की है. भारतीय हरफनमौला खिलाड़ी क्रिकेट विश्व कप 2003 में टीम का हिस्सा थे. मोंगिया आखिरी बार 2007 में भारत के लिए खेले थे, लेकिन 2008 में विद्रोही इंडियन क्रिकेट लीग (ICL) में भाग लेने के कारण उन्होंने भारतीय टीम में वापसी करने के लिए सभी दरवाजे बंद कर दिए. बीसीसीआई ने ICL को एक क्रिकेट लीग के रूप में मान्यता देने से इनकार कर दिया था और यह उन खिलाड़ियों पर भारी पड़ी जो इसमें खेले थे. अंबाती रायडू सहित कई खिलाड़ियों को बीसीसीआई ने माफी दी थी, लेकिन मोंगिया को भारतीय टीम से वापस नहीं बुलाया गया.

टीम इंडिया के लिए बाएं हाथ के बल्लेबाज ने 57 एकदिवसीय मैच खेले, जिसमें 27.95 की औसत से 1230 रन बनाए. वनडे करियर में उनका एकमात्र एकदिवसीय शतक 2002 में जिम्बाब्वे के खिलाफ आया था, जहां उन्होंने नाबाद 159 रन बनाए थे. उन्होंने कभी भी टीम के लिए टेस्ट मैच नहीं खेला, लेकिन 2006 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ भारत के पहले टी20 मैच में खेले. इन्होंने 38 रन बनाए और भारत ने साउथ अफ्रीका को एक गेंद रहते हुए 6 विकेट से हराया था.

मोंगिया ने 2001 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे में पदार्पण किया था. लंकाशायर और लीसेस्टरशायर का प्रतिनिधित्व करते हुए मोंगिया भी काउंटी में खेलने गए. इसके साथ ही उनके क्रिकेट करियर में छोटे खेलों की बात करें तो 121 प्रथम श्रेणी मैचों में, उन्होंने 48.95 की औसत से 8028 रन बनाए. हालाँकि, इंडियन क्रिकेट लीग में उनका कार्यकाल मैदान पर एक खिलाड़ी के रूप में उनका अंतिम रूप रहा. पिछले साल वह राज्य चयनकर्ता के रूप में पंजाब क्रिकेट एसोसिएशन में शामिल हो गए, और एक रिपोर्ट्स के अनुसार मोंगिया अब कोचिंग असाइनमेंट लेना चाहते हैं.

Happy Birthday Ravichandran Ashwin: बर्थडे पर जानें इंजीनियर से क्रिकेटर बने रविचंद्रन अश्विन के ये खास रिकॉर्ड

Virat Kohli On MS Dhoni: महेंद्र सिंह धोनी की फोटो ट्वीट करने पर विराट कोहली बोले- ऐसे ही शेयर की थी अपने ‘कैप्टन’ माही की तस्वीर

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App