Tuesday, November 29, 2022

CWG 2022: 8वें दिन भारत पर हुई मेडलों की बारिश, रेसलरों की पटखनी से गूंजा बर्मिंघम

नई दिल्ली। बर्मिंघम में खेले जा रहे 22वें कॉमनवेल्थ गेम्स के 8वें दिन भारतीय रेसलरों ने मेडल की बारिश कर दी। भारतीय द्ल के 4 रेसलर फाइनल में उतरे, जिनमें से तीन पहलवान गोल्ड मेडल जीतने में कामतयाब रहे जबकि एक रेसलन ने सिल्वर मेडल अपने नाम किया। और इसमें हैरत करने वाली बात ये है कि भारत के तीनों गोल्ड सिर्फ एक घंटे में आए। अब इसी के साथ कॉमनवेल्थ गेम्स भारत के कुल 9 गोल्ड हो गए हैं। भारतीय पहलवान दीपक पूनिया ने पाकिस्तानी रेसलर को हराकर गोल्ड जीता। वहीं बाकी दो गोल्ड बजरंग पूनिया और साक्षी मलिक ने जीते।

बजरंग पूनिया

देश के स्टार पहलवान बजरंग पूनिया ने अपने ही चिर-परिचित अंदाज में कनाडा के रेसलर एल. मैकलीन को 9-2 से पटकनी दी और भारत के लिए गोल्ड मेडल जीता। पूनिया 65 किलोग्राम भारवर्ग में फाइट लड़ रहे थे। उन्होंने विपक्षी पहलवान को संभलने तक का मौका नहीं दिया। बता दें की बजरंग का ये तीसरा पदक है उन्होंने 2014 में सिल्वर और 2018 में गोल्ड मेडल जीता था।

साक्षी मलिक

राष्ट्रमंडल खेल 2022 में भारतीय महिला पहलवान साक्षी मलिक ने कमाल कर दिया है। उन्होंने कॉमनवेल्थ गेम्स में इतिहास रचते हुए कनाडा की रेसलर गोडिनेज गोंजालेज को 62kg भारवर्ग में हराकर पहली बार अपने नाम गोल्ड मेडल जीता। बता दें कि साक्षी मलिक इससे पहले साल कॉमनवेल्थ गेम्स के साल 2014 आयोजन में सिल्वर मेडल और 2018 में कांस्य पदक जीत चुकी हैं।

दीपक पूनिया

बर्मिंघम में आयोजित हो रहे 22वें कॉमनवेल्थ गेम्स में भारतीय पहलवान दीपक पूनिया ने शानदार खेल दिखाया। उन्होंने सेमीफाइनल में 86kg भारवर्ग में कनाडा के एलेक्जेंडर मूर को पटकनी दी और 3-1 से इस मुकाबले को अपने नाम किया। वहीं फाइनल मे दीपक ने चिर प्रतिद्वंदी पाकिस्तानी पहलवान मोहम्मद इनाम को 3-0 से हरा कर देश के नाम स्वर्ण पदक लाया। उन्होंने पाकिस्तानी पहलवान को गेम में एक बार भी संभलने का मौका नहीं दिया।

अंशु मलिक

अपना पहला कॉमनवेल्थ गेम्स खेल रही अंशु मलिक ने ही इस 22वें टूर्नामेंट के कुश्ती के खेल में भारत का खाता खोला और अपने नाम सिल्वर मेडल किया। हालांकि फाइनल में उनको नाइजीरिया की ओदुनायो फोलासादे अदेकुओरोए से 7-4 से हार का सामना करना पड़ा। फाइनल में हार के बाद अंशु मैट पर रो पड़ी। लेकिन अंशु अभी युवा हैं इनकी उम्र महज 21 साल है और भारत को ये आगे कई गोल्ड मेडल दिला सकती हैं। बता दें कि गोल्ड मेडलिस्ट ओदुनायो ने साल 2014 और 2018 के कॉमनवेल्थ में भी गोल्ड मेडल जीत चुकी हैं।

CWG 2022: भारत को मिला 20वां पदक, पैरा पावरलिफ्टिंग में सुधीर ने जीता गोल्ड

Latest news