गोल्डकोस्टः कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत का शानदार सफर लगातार जारी है. खेलों के नौवें दिन निशानेबाज तेजस्विनी सावंत के बाद अनीश भानवाला ने भारत के लिए दिन का दूसरा और कुल 16वां गोल्ड जीता. भारत का नाम रोशन करने के लिए लोग सोशल मीडिया पर अनीश भानवाला जमकर तारीफ कर रहे हैं. सोशल मीडिया पर बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, खेलमंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर समेत क्रिकेटर और देश भर के लोग सोशल मीडिया के माध्यम से बधाई दे रहे हैं अनीश भानवाला ने फाइनल में कॉमनवेल्थ गेम्स का गेम रिकॉर्ड तोड़ते हुए गोल्ड मेडल हासिल किया. अनीश ने 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल स्पर्धा में 30 अंक हासिल किए और कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडल जीतने वाले सबसे युवा भारतीय बन गए.

हालांकि शुरुआत में अनीश पीछे चल रहे थे. वह पहले चार सीरीज के बाद 10 अंकों के साथ चौथे स्थान पर थे. उस वक्त लग रहा था कि अनुभव कहीं न कहीं अनीश को मात दे देगी. लेकिन उन्होंने वापसी करते हुए पांचवें सीरीज में अपने प्रतिद्वंदी पर पांच अक की बढ़त हासिल कर ली. इसके बाद उन्होंने इस बढ़त को ना गंवाते हुए 30 अंको के साथ गोल्ड मेडल जीत लिया. इसमें चार परफेक्ट पांच के भी स्कोर थे. इस तरह 15 वर्षीय अनीश भानवाला कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडल जीतने वाले सबसे युवा भारतीय बन गए.

इससे पहले महिलाओं की 50 मीटर राइफल थ्री पोजिशन में 37 साल की तेजस्विनी सावंत ने गोल्ड मेडल हासिल किया. वहीं अंजुम मोदगिल ने सिल्वर मेडल पर अपना कब्जा जमाया. महिलाओं की 50 मीटर राइफल थ्री पोजिशन में 37 साल की तेजस्विनी सावंत ने गोल्ड मेडल हासिल किया. वहीं अंजुम मोदगिल ने सिल्वर मेडल पर अपना कब्जा जमाया. फाइनल में तेजस्विनी ने कॉमनवेल्थ रिकॉर्ड के साथ 457.9 अंक हासिल किए, जबकि अंजुम (455.7 अंक) दूसरे स्थान पर रहीं. इस स्पर्धा का ब्रॉन्ज स्कॉटलैंड की सियोनाइड मैकिनटोश (444.6) को मिला. तेजस्विनी का मौजूदा कॉमनवेल्थ में यह दूसरा पदक है. इससे पहले उन्होंने 50 मीटर राइफल प्रोन में सिल्वर मेडल जीता था.

CWG 2018: कॉमनवेल्थ में बजा भारत का डंका, तेजस्विनी और अंजुम की जमकर हो रही तारीफ

CWG 2018: देश की बेटियों ने कॉमनवेल्थ में लहराया परचम, तेजस्विनी सावंत ने गोल्ड तो अंजुम मोदगिल को मिला सिल्वर

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर