गोल्ट कोस्ट: 21वें कॉमनवेल्थ खेलों में भारत के लिए 10वां दिन शानदार रहा. पांच बार की विश्व चैंपियन और ओलंपिक कांस्य पदक विजेता मुक्केबाज एमसी मेरी कॉम ने कॉमनवेल्थ गेम में गोल्ड मेडल जीता. मेरी कॉम ने महिलाओं के 48 किलो ग्राम भार वर्ग के फाइनल में उत्तरी आयरलैंड की क्रिस्टिना ओहारा को 5-0 से मात दी. मेरी कॉम ने मैच में शानदार प्रदर्शन करते हुए मुकाबला लगभग एकतरफा बना दिया. ओहारा के पास मेरीकोम के जबरदस्त पंच और फिटनेस का कोई जवाब नहीं था. ये मेरी कॉम का कॉमनवेल्थ खेलों का पहला पदक है. मेरी कॉम ने पहले राउंड में सब्र दिखाया और सही मौके का इंतजार किया. उन्हें कई मौके मिले जिसे उन्होंने बखूबी भुनाया. मेरी कॉम ने अपने बाएं पंच का अच्छा इस्तेमाल किया.

मेरी कॉम ने 45-48 किलोग्राम भारवर्ग की स्पर्धा में इंग्लैंड की क्रिस्टिना ओहारा को 5-0 से मात देकर पहली बार कॉमनवेल्थ गेम्स में अपना पहला मेडल हासिल किया है. दूसरे राउंड में मेरी कॉम ने अपना आक्रामक अंदाज जारी रखा. वहीं क्रिस्टिना ओहारा ने भरपूर कोशिश की. लेकिन उनके पंच चूक रहे थे. वहीं मेरी कॉम मुकाबला आगे बढ़ने के साथ और ज्यादा आक्रामक हो गईं. तीसरे और अंतिम राउंड में क्रिस्टिना भी आक्रामक हो गई थीं और पांच बार की विश्व चैम्पियन को जबरदस्त टक्कर दी. मेरी कॉम ने अपना डिफेंस भी मजबूत रखते हुए अंत में जीत हासिल की. मेरी कॉम कॉमनवेल्थ के मुक्केबाजी स्पर्धा में गोल्ड जीतने वाली भारत की पहली महिला बन गई हैं. है. गोल्ड मेडल की प्रबल दावेदार भारत की एम सी मेरी कॉम ने लोगों की अपेक्षओं पर खरा उतरते हुए गोल्ड मेडल जीत जिसके बाद सोशल मीडिया पर लोग उनकी जमकर तारीफ कर रहे हैं.

VIDEO: गोल्ड जीतने के बाद सुपर मॉम मैरी कॉम ने बच्चों से कहा- जल्द लौटूंगी

CWG 2018: भारत के लिए ;गोल्डन शनिवार बना दसवां दिन, लोगों ने ट्विटर पर बांधे खिलाड़ियों की तारीफों के पुल

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App