पटनाः रणजी ट्रॉफी में 20 साल बाद वापसी कर रही बिहार रणजी टीम ने अपनी पहली जीत दर्ज कर ली है. बिहार ने प्लेट ग्रुप के एक मुकाबले में सिक्किम को 395 रनों के बड़े अंतर से हराया. पहले बल्लेबाजी करते हुए बिहार की टीम ने आशुतोष अमन (89) और विवेक कुमार (72) की अर्धशतकीय पारियों की बदौलत पहली पारी में 288 रन बनाए थे. जवाब में सिक्किम की टीम सिर्फ 88 रन पर ही सिमट गई. बल्लेबाजी के बाद आशुतोष अमन ने गेंदबाजी में भी जौहर बिखेरा और 5 विकेट दर्ज किए.

200 रन की विशाल बढ़त दर्ज करने के बाद बिहार ने दूसरी पारी में भी 7 विकेट पर 296 रन का बड़ा स्कोर खड़ा किया. इंद्रजीत कुमार (30), रजनीश कुमार (25), रहमतुल्लाह (66), केशव कुमार (36), उत्कर्ष भास्कर (59) और विकास रंजन (55) ने उपयोगी पारियां खेली जबकि पहली पारी के अर्धशतकवीर खिलाड़ियों आशुतोष अमन और विवेक कुमार क्रमशः 17 और 5 रन पर नाबाद रहे. इस तरह बिहार ने सिक्किम के लिए 497 रनों का लगभग असंभव लक्ष्य दिया.

जवाब में सिक्किम की टीम सिर्फ 108 रन पर ही सिमट गई. सिक्किम की तरफ से अनुभवी खिलाड़ी विपुल शर्मा (32) ही कुछ संघर्ष कर सकें. आशुतोष अमन ने एक बार फिर धारदार गेंदबाजी करते हुए 5 विकेट लिए और शीर्ष क्रम को झकझोर कर रख दिया. इस बार अमन का साथ समर कादरी ने भी खूब दिया और 4 विकेट लिए. बिहार की इस जीत की सबसे खास बात यह रही कि उन्होंने अपने घरेलू मैदान मोइन उल हक स्टेडियम में यह जीत दर्ज की.  रणजी ट्रॉफी में वापसी कर रही बिहार की टीम ने 42 साल बाद अपने घरेलू सरजमीं पर कोई जीत दर्ज की है. इससे पहले मोइन उल स्टेडियम में ही 1976 में ओडिशा के खिलाफ बिहार को जीत मिली थी, जो घरेलू धरती पर बिहार की आखिरी जीत थी. बिहार ने इस साल विजय हजारे ट्रॉफी में भी शानदार प्रदर्शन करते हुए क्वार्टर फाइनल तक का सफर तय किया था.

पृथ्वी शॉ के धमाकेदार शतक से चहका सोशल मीडिया, 2019 वर्ल्ड कप टीम में शामिल करने की कर डाली मांग

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App