नई दिल्ली : छह बार की वर्ल्ड चैम्पियन एमसी मेरीकॉम ने यहां बिग बाउट इंडन बॉक्सिंग लीग में अपने अच्छे खेल और अच्छे व्यवहार से सबका दिल जीत लिया। इस साल वर्ल्ड चैम्पियनशिप में ब्रॉन्ज़ मेडल जीतने वाली मेरीकॉम ने नैशनल चैम्पियनशिप की ब्रॉन्ज़ मेडलिस्ट सविता को फलाईवेट वर्ग में तीनों राउंड में एकतरफा ढंग से हराया और मुक़ाबले के बाद उन्होंने सविता की दिल खोलकर तारीफ भी की। मेरीकॉम के खासकर बाएं हाथ के पंच निर्णायक रहे और कुछ चुनिंदा पंचों की मदद से ही उन्होंने मुक़ाबला अपने नाम कर लिया। पहला दिन पंजाब पैंथर्स के नाम रहा जिसने ओड़िशा वॉरियर्स को 5-2 से हराया।

गौतमबुद्ध यूनिवर्सिटी के इंडोर स्टेडियम में खेले गये मुक़ाबले में कॉमनवेल्थ गेम्स के पूर्व चैम्पियन मनोज कुमार इस मुक़ाबले के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी चुने गये। उन्होने दिन के पहले ही मुक़ाबले में 69 किलों वर्ग में उज़्बेकिस्तान के यूक्रेनियन चैम्पियन को एकतरफा मुक़ाबले में हराकर सबका दिल जीत लिया। पिछले 13 वर्षों से सीनियर वर्ग में खेल रहे मनोज ने इंजरी के बाद उतरकर इस बाद का अहसास ही नहीं होने दिया कि वह लम्बे समय बाद लौटे हैं।

मगर इसके बाद जैस्मिन ने महिलाओं के 57 किलो वर्ग में सपना शर्मा को और दीपक ने 52 किलो वर्ग में पीएल प्रसाद को शिकस्त देकर ओड़िशा वॉरियर्स को 2-1 से आगे कर दिया। दीपक की पीएल प्रसाद पर जीत में काफी उतार चढ़ाव देखने को मिले। दोनों मुक्केबाज़ सेना के थे इसलिए एक दूसरे की ताकत से पूरी तरह वाकिफ थे। वहीं अर्जुन पुरस्कार विजेता सोनिया लाथर ने महिलाओं के 60 किलो वर्ग में ओड़िशा टीम की प्रियंका चौधरी के खिलाफ पिछड़ने के बाद शानदार जीत हासिल की।

इसके बाद मेरीकाम ने सविता को हराकर पंजाब पैथर्स को 3-2 से आगे किया। उज्बेकिस्तानी बॉक्सर खालाकोव ने 57 किलो वर्ग में मोहम्मद इब्राहिम को हराकर पंजाब टीम को 4-2 की निर्णायक बढ़त दिलाई और बाकी का काम मोहित ने नीलकमल सिंह को हराकर पंजाब के लिए कर दिया।

India Wants No Mercy To Rapists: संसद से लेकर सड़क तक महिला सुरक्षा पर चर्चा, सोशल मीडिया पर लोगों का उबाल- बलात्कारियों की सरेआम गर्दन काट दो, उन्हें पत्थरों से कुचल दो !

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App