टेम्पेरे: फिनलैंड के टेम्पेरे में गुरुवार को भारतीय धाविका हिमा दास (18) ने इतिहास रच दिया. इंटरनेशनल एसोसिएशन ऑफ एथलेटिक्स फेडरेशन (IAAF) वर्ल्ड अंडर-20 एथलेटिक्स चैंपियनशिप के 400 मीटर फाइनल में हिमा ने स्वर्ण पदक अपने नाम किया. असम की रहने वालीं हिमा दास ट्रैक इवेंट में गोल्ड जीतने वालीं पहली भारतीय महिला एथलीट बन गई हैं.

हिमा दास ने राटिना स्टेडियम में खेले गए फाइनल मुकाबले में 51.46 सेकेंड का समय निकालकर पहली पोजिशन हासिल की. बुधवार को आयोजित किए गए सेमीफाइनल में भी उन्होंने 52.10 सेकेंड से टॉप किया था. पहले राउंड में उनका रिकॉर्ड स्कोर 52.25 सेकेंड था. हाल ही में आयोजित अंतरराज्यीय चैंपियनशिप में भी उन्होंने स्वर्ण पदक अपने नाम किया था.

अप्रैल में ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में हुए कॉमनवेल्थ गेम्स में 400 मीटर स्पर्धा में वह अंडर-20 के रिकॉर्ड 51.32 सेकेंड के समय के साथ छठे स्थान पर रही थीं. वह अब जैवलिन थ्रो (भाला फेंक) के स्टार खिलाड़ी नीरज चोपड़ा के क्लब में शामिल हो गई हैं. नीरज चोपड़ा ने साल 2016 में हुई पिछली प्रतियोगिता में वर्ल्ड रिकॉर्ड के साथ गोल्ड मेडल अपने नाम किया था. हालांकि हिमा गोल्ड मेडल जीतने वाली पहली ट्रैक खिलाड़ी हैं. इससे पहले वर्ल्ड जूनियर चैंपियनशिप में भारत के लिए सीमा पूनिया साल 2002 में और 2014 में नवजीत कौर ढिल्लों चक्का फेंक में कांस्य जीत चुकीं हैं.

पुर्तगाल के स्टार फुटबॉलर क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने रियल मैड्रिड का छोड़ा साथ, 721 करोड़ रुपये में जुवेंटस में शामिल!

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App