नई दिल्ली. 18वें एशियाई खेलों में बैडमिंटन में भारत के लिए अच्छी खबर है. भारत की स्टार शटलर साइना नेहवाल महिला सिंगल्स के सेमीफाइनल में पहुंच गई हैं. उन्होंने क्वाटर फाइनल में थाईलैंड की रचानोक इंटानन को 21-18 और 21-16 से मात दी. क्वाटर फाइनल जीतने के साइना नेहवाल ने 18वें एशियाई खेलों में पदक पक्का कर लिया है.

इस क्वाटर फाइनल मैच में साइना की शुरुआत अच्छी नहीं और वह थाईलैंड की खिलाड़ी से पिछड़ती नजर आईं. पहले गेम में लग रहा था कि साइना पहला सेट गवां देंगी. लेकिन आज का दिन साइना नेहवाल का था. उन्होंने जोरदार वापसी करते हुए थाईलैंड की खिलाड़ी को पहले सेट में 21-18 से मात दी. भारतीय शटलर साइना ने दूसरे गेम में भी गजब का खेल दिखाया. उन्होंने दूसरा सेट 21-16 से जीत कर रचानोक इंटानन की उम्मीदों पर पानी फेर दिया. इस जीत का साथ साइना ने सेमीफाइनल का टिकट कटा लिया जहां उनका मुकाबला विश्व की नंबर 1 खिलाड़ी चीनी ताइपे की ताई जू यींग से होगा.

एशियाई खेलों में यह पहला मौका है जब बैडमिंटन स्पर्धा के महिला सिंगल्स में भारत ने मेडल पक्का किया हो. एशियाई खेलों में भारत की तरफ से अब तक कोई महिला बैडमिंटन खिलाड़ी एकल वर्ग में मेडल नहीं जीत पाई है. रिकॉर्ड की बात की जाए तो  बैडमिंटन इंडिविजुअल इवेंट में आखिरी बार सैयद मोदी ने 1982 में ब्रॉन्ज मेडल जीता था। 

भारतीय शटलर साइना नेहवाल थाईलैंड की शटलर रचानोक इंटानन पर हमेशा भारी पड़ी हैं. इन दोनों महिला खिलाड़ियों के बीच अब तक 16 मैच खेल गए हैं जिनमें साइन ने 11 और इंटानन को सिर्फ 5 बार जीत मिली है. साइना अब तक 5 बार लगातार इंटानन को हरा चुकी हैं.

एशियन गेम्स 2018: तेजिंदरपाल सिंह ने गोला फेंक में भारत को दिलाया गोल्ड, बनाया रिकॉर्ड

एशियन गेम्स 2018: जानिए, कौन हैं स्क्वैश में ब्रॉन्ज मेडल जीतने वाली दीपिका पल्लीकल कार्तिक