नई दिल्ली. भारतीय महिला पहलवान गीता फोगाट ने बताया कि आखिर क्यों उनका ध्यान कुश्ती से भटक गया. गीता फोगाट ने कहा कि चोट और फिल्म के कारण वह कुश्ती पर फोकस नहीं कर पाईं. गीता फोगाट इन दिनों आउट ऑफ फॉर्म चल रही हैं. आमिर खान की ब्लॉकबस्टर फिल्म दंगल की कहानी गीता फोगाट और उनकी बहन बबिता फोगाट पर फिल्माई गई थी. इस फिल्म के जरिए इन दोनों बहनों ने खूब वाहवाही मिली.

चोट के कारण गीता मौजूदा समय में भी कुश्ती से दूर हैं. गीता फोगाट के मुताबिक, चोट और फिल्म के कारण मैं दो वर्षों तक रेसलिंग से दूर रही हूं जिसके चलते मैं अपना फोकस नहीं कर पाई. अब मैं अपना ध्यान कुश्ती पर केंद्रित करूंगी. गीता ने ये बातें एक कार्यक्रम के दौरान कहीं. 29 वर्षीय गीता फोगाट ओलंपिक में क्वालीफाई करने वाली पहली भारतीय महिला पहलवान हैं. 2012 लंदन ओलंपिक में उन्होंने क्वालीफाई किया था. 2010 दिल्ली राष्ट्रमंडल खेलों में गीता फोगाट गोल्ड मेडल जीतने में सफल रहीं.

गीता ने कहा, मैट पर मेरी वापसी आसान नहीं होगी, मैं भारतीय टीम में शामिल होने के लिए कठिन मेहनत करूंगी. खेल कोई आसान चीज नहीं अगर कोई लंबे समय तक बाहर रहे तो वापसी करना मुश्किल होता है. एशियन गेम्स 2018 से संबंधित एक प्रश्न की जवाब में गीता फोगाट ने कहा कि वह आशा करती हैं इस बार महिला पहलवान पहले से ज्यादा पदक लेकर लौटेंगी. उन्होंने कहा कि पिछली बार महिला पहलवानों ने सिर्फ दो पदक जीते और उनकी परफॉर्मेंस काबिलेतारीफ रही, उन्होंने आगे कहा कि उन्हें विनेश, साक्षी और पूजा से पदक की उम्मीदें हैं. गीता फोगाट 2018 एशियाई खेलों में भाग नहीं लेंगी. हाल ही में राष्ट्रीय शिविर में गीता फोगाट को अनुशासनहीनता के चलते बाहर कर दिया गया था. जिसके कारण वह एशियाई खेलों में भाग नहीं ले पाएंगी.

34 साल बाद पीटी ऊषा ने खोला राज, आखिर लॉस एंजिलिस ओलंपिक में क्यों नहीं जीत पाई पदक?

एशियन गेम्स 2018ः चिराग शेट्टी और सात्विक रेड्डी पर होगी भारत को पुरूष युगल में पहला गोल्ड दिलाने की जिम्मेदारी

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App