जकार्ता:जकार्ता-पालेमबांग एशियाई खेलों के चौथे दिन भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने पूल मैच में हांग कांग को 26-0 से मात देकर इतिहास रच दिया. इसके साथ ही भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने 86 साल पुराना रिकॉर्ड ध्वस्त कर दिया. भारतीय हॉकी के इतिहास में 86 साल बाद सुनहरा अवसर आया है जब उसने इतनी बड़ी जीत हासिल की हो. इससे पहले भारत ने 1932 लॉस एंजेलिस ओलंपिक में खेलों में अमेरिका को 24-1 से शिकस्त दी थी. हालांकि इंटरनेशल हॉकी में सबसे बड़ी जीत का रिकॉर्ड न्यूजीलैंड के नाम है. न्यूजीलैंड ने 1994 में समोआ को 36-1 से बड़े अंतर से धूल चटाई थी.

भारतीय पुरुष हॉकी टीम की तरफ से इस मैच में भारत के चार खिलाड़ियों ने हैट्रिक गोल दागे.भारत की ओर से हरमनप्रीत ने सबसे अधिक 4 गोल दागे. वहीं, आकाशदीप, रुपिंदर और ललित ने 3-3 गोल किए. सुनील, मनदीप और मनप्रीत ने दो-दो गोल दागे. इन खिलाड़ियों के अलावा विवेक, दिलप्रीत, चिंगलेसना, अमित, वरुन, सिमरनजीत और सुरेंदर ने एक-एक गोल दागे. विपक्षी टीम शुरुआत से ही मैच में भारतीय खिलाड़ियों के सामने बेबस नजर आई. इससे पहले भी भारत ने इंडोनेशिया को 17-0 के बड़े अंतर से मात दी थी. यह भारत की एशियाई गेम्स में अब तक की सबसे बड़ी जीत है.

यह भारत की एशियाई गेम्स में अब तक की सबसे बड़ी जीत है. भारत ने एशियाई गेम्स में अब तक 4 गोल्ड 3 सिल्वर और 8 ब्रॉन्ज समेत कुल 15 पदक जीत लिए हैं. भारतीय पुरूष हॉकी टीम ने हांगकांग को जिस अंदाज में मात थी उससे भारतीय फैन्स की उम्मीदें हॉकी से ओर अदिक बढ़ गई हैं. यह भारत के हॉकी इतिहास की सबसे बड़ी जीत है.

Asian Games 2018: एशियाई खेलों में शूटिंग में गोल्ड जीतने वाली पहली भारतीय महिला बनीं राही सरनोबत, सोशल मीडिया पर लगा बधाईयों का तांता

भारत की बेटी राही सरनोबत ने लगाया गोल्ड पर निशाना, एशियन गेम्स में गोल्ड जीतने वाली पहली भारतीय महिला शूटर बनीं

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App