जकार्ताः भारतीय टीम के लिए एशियन खेलों का सातवां दिन कुछ खास नहीं रहा. तीरंदाजी, निशानेबाजी, बॉक्सिंग, वेटलिफ्टिंग में निराशा के बाद अंततः देर शाम भारत को एक कामयाबी मिली, जब स्क्वैश में भारत के लिए दीपिका पल्लीकल ने कांस्य पदक जीता. हालांकि सेमीफाइनल में पल्लीकल को हार का सामना करना पड़ा. सेमीफाइनल में मलेशिया की डेविड निकोल ने पल्लीकल को 3-0 से हराया और सिर्फ कांंस्य पदक से ही संतोष करना पड़ा. सातवें दिन भारत का यह पहला मेडल है. दीपिका पल्लीकल के बाद जोशना चिनप्पा और सौरभ घोषाल से अब भारत को बेहतर पदकों की उम्मीद है.

दीपिका पल्लीकल की इस उपलब्धि पर पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर उन्हें बधाई दी है. उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि दीपिका लगातार विश्व स्तर की खेल प्रतियोगिताओं में अच्छा प्रदर्शन कर रही हैं. उन्हें बधाई. खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने भी दीपिका को बधाई देते हुए लिखा कि उनका प्रदर्शन शानदार रहा. उन्हें पदक जीतने की बधाई. इसके अलावा तमाम खेल प्रेमियों ने सोशल मीडिया पर उनकी इस उपलब्धि के लिए बधाई दी.

आपको बता दें कि सातवें दिन भारतीय खिलाड़ियों का प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा. तीरंदाजी, निशानेबाजी, बॉक्सिंग, वेटलिफ्टिंग और बैडमिंटन सभी जगहों से भारत को निराशा हाथ लगी. हालांकि अभी भी बैडमिंटन में साइना और सिंधु से पदकों की उम्मीद है जो आज मुकाबला जीतकर क्वार्टर फाइनल में पहच गई हैं. इसके अलावा आज से ट्रैक एंड फील्ड की स्पर्धाएं भी शुरू हो रही हैं, जिसमें भारतीय एथलीटों से पदक की उम्मीद है.

एशियन गेम्स 2018ः कबड्डी में हार से निराश भारतीय कोच ने कप्तान पर साधा निशाना, कहा- अजय ठाकुर का अति आत्मविश्वास टीम को ले डूबा