नई दिल्ली. एशियाई खेलों में कबड्डी पदक विजेताओं और न चयनित हुए खिलाड़ियों के बीच 15 सितंबर को प्रस्तावित ट्रायल मैच नहीं हुआ. एशियाड में पदक जीते हुए पुरुष और महिला खिलाड़ी ट्रायल के लिए नहीं आए. इस मामले में अमेच्योर कबड्डी फेडरेशन ऑफ इंडिया (एकेएफआई) की तरफ से कोई सफाई्र नहीं आई है जबकि कोर्ट में चयन में धांधली का आरोप लगाने वाले याचिकाकर्ताओं ने इसे कोर्ट ऑफ कंटेम्प्ट कहा है.

दरअसल एशियन गेम्स 2018 में कबड्डी टीम के इंडोनेशिया रवाना होने से पहले पूर्व कबड्डी खिलाड़ी महिपाल सिंह ने दिल्ली हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था. महिलपाल सिंह ने एमेच्योर कबड्डी महासंघ पर घूस लेकर कबड्डी टीम में खिलाड़ियों के चयन का गंभीर आरोप लगाया. जाहिर है एशियन गेम्स के लिए चुनी गई कबड्डी टीम से कई स्टार खिलाड़ियों को बाहर कर दिया था.

महिपाल सिंह के लगाए गए आरोपों को दिल्ली हाईकोर्ट ने संज्ञान में लिया और कहा कि एशियाई खेलों की समाप्ति के बाद जिन खिलाड़ियों को कबड्डी टीम में शामिल किया गया है और जिन खिलाड़ियों को कबड्डी टीम में शामिल नहीं का गया दोनों के बीच मैच कराया जाएगा. मामले की सुनवाई करते हुए मुख्‍य न्‍यायधीश न्‍यायमूर्ति राजेंद्र मेनन और न्‍यासमूर्ति वीके राव ने 2 अगस्‍त को आदेश दिया था कि 15 सितंबर को सुबह 11 बजे इस मैच आयोजन किया जाएगा.

खंडपीठ ने दिल्ली हाईकोट के जस्टिस (रिटायर ) एस.पी गर्ग को खेल एवं युवा मंत्रालय के आला अधिकारी के साथ चयन का पर्यवेक्षक नियुक्त किया. लेकिन जब मैच होने का समय आया तो एशियन गेम्स में पदक जीतने वाली भारतीय महिला/पुरुष कबड्डी टीम के खिलाड़ी नदारद थे. इंडोनेशिया गई महिल/पुरुष टीम का एक भी खिलाड़ी नहीं आया. इन खिलाड़ियों के ट्रायल के न आने पर अमेच्योर कबड्डी फेडरेशन ऑफ इंडिया की तरफ से अभी तक कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है.

एशियन गेम्स 2018ः कबड्डी में हार से निराश भारतीय कोच ने कप्तान पर साधा निशाना, कहा- अजय ठाकुर का अति आत्मविश्वास टीम को ले डूबा

Asian Games 2018 Day 6, Highlights: महिला कबड्डी टीम से सोना फिसला, प्रजनेश को मिला ब्रॉन्‍ज

नहीं हुआ कबड्डी ट्रायल मैचएशियाड कबड्डी पदक विजेताओं और न चयनित हुए खिलाड़ियों के बीच 15 सितंबर को प्रस्तावित ट्रायल मैच नहीं हो सका. एशियाड में पदक जीते हुए पुरुष और महिला खिलाड़ी ट्रायल के लिए नहीं आए. इस बारे में अमेच्योर कबड्डी फेडरेशन ऑफ इंडिया (एकेएफआई) की तरफ से कोई सफाई नहीं आई है जबकि चयन में धांधली का आरोप लगाने वाले याचिकाकर्ताओं ने इसे कोर्ट ऑफ कंटेम्प्ट कहा है.#Kabaddi #KabaddiTrials #AsianGames #AsianGames2018

Posted by InKhabar on Saturday, 15 September 2018

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App