नई दिल्ली: टीम इंडिया के पूर्व विकेटकीपर और सलामी बल्लेबाज रहे फारुख इंजीनियर के बयान पर अनुष्का शर्मा बिफर गईं और उन्होंने 11 साल की चुप्पी को तोड़ते हुए एक के बाद एक उनके ऊपर लगे सभी आरोपों का जवाब दिया. अनुष्का शर्मा ने सोशल मीडिया पर अपना बयान जारी कर कहा कि मेरे खिलाफ फर्जी और मनगढंत खबरों पर चुप्पी साधकर ही मैं पिछले 11 सालों से इनसे निपटती आई हूं क्योंकि मुझे लगता है कि ये सही तरीका है. खामोशी में ही सच और अपनी इज्जत छुपी होती है यही मेरा मानना था.

‘मैं देखती रही कि मेरे खिलाफ झूठ पर झूठ बोला गया और और उसे सच बनाने की कोशिश की गई. मुझे डर है कि अब मेरी चुप्पी कहीं आज उनके झूठ को सच ना साबित कर दे. मैने बहुत से मौकों पर चुप रहना बेहतर समझा. उस समय मेरे ब्वॉयफ्रेंड विराट कोहली जो अब मेरे पति हैं उनके क्रिकेट में खराब प्रदर्शन का जिम्मेदार मुझे ठहराया गया. लोग लगातार मुझपर आरोप लगाते रहे कि विराट कोहले के खराब प्रदर्शन की जिम्मेदार मैं हूं जिसपर मैने चुप रहना ही बेहतर समझा. मुझे लेकर ऐसी-ऐसी निराधार कहानियां गढ़ीं गईं कि मैं टीम सिलेक्शन के लिए रखी गई क्लोज डोर मीटिंग का हिस्सा होती थी. यही नहीं, मैं टीम सिलेक्शन प्रोसेस को प्रभावित करती थी. मैने चुप रहना बेहतर समझा.’

‘मुझपर आरोप लगा कि विदेशी दौरों में मैं तय समय से ज्यादा अपने पति के साथ रहती हूं और मुझे नियमों के खिलाफ जाकर अपने पति के साथ रहने के लिए विशेष छूट दी जाती है लेकिन सच ये है कि मैंने हमेशा प्रोटोकॉल का पालन किया लेकिन कभी किसी ने सच जानने और तथ्य को परखने की कोशिश नहीं की.’

‘मुझपर आरोप लगा कि मैच देखने के लिए बोर्ड मेरी टिकट और फ्लाइट का इंतजाम करता है लेकिन सच ये है कि मैच की टिकट मैं खुद लेती थी और खुद ही वहां जाती थी. लेकिन मैने फिर भी चुप रहना ही बेहतर समझा. भारतीय उच्चायुक्त की पत्नी के कहने पर मैं टीम के ग्रुप फोटो में शामिल हुई. मैं ग्रुप फोटो में शामिल होने से संकोच कर रही थी लेकिन मुझपर आरोप लगा कि मैं जानबूझकर उस कार्यक्रम का हिस्सा बनी. हालांकि मैं उस कार्यक्रम के लिए आमंत्रित थी. फिर भी मैं चुप रही.’

‘मुझपर हाल में निराधार आरोप लगा कि वर्ल्ड कप के दौरान सिलेक्टर मुझे चाय लाकर देते थे. मैं वर्ल्ड कप का सिर्फ एक मैच देखने गई थी और वहां भी मैं फैमिली बॉक्स मैं बैठी थी ना कि सिलेक्टर बॉक्स मैं बैठी थी जो मुझपर आरोप लगाया गया लेकिन सच की किसको पड़ी है, लोग अपनी सहुलियत के हिसाब से अपना सच बना लेते हैं. अनुष्का ने आगे कहा कि अगर आपको सिलेक्टर पर सवाल उठाने हैं, उनकी क्षमताओं पर सवाल उठाने हैं तो शौख से उठाएं ये आपका विकल्प है लेकिन अपने विचार को भ्रामक बनाने के लिए मुझे इस विवाद में ना घसीटें. मैं किसी को ये इजाजत नहीं देती कि वो किसी भी विवादित किस्से का मुझे हिस्सा बनाएं.’

‘ऐसा नहीं है कि सिर्फ खबर के इस हिस्से की वजह से मैने आज चुप्पी तोड़ने का फैसला किया है. ऊपर दिए गए सारे विवाद उतने ही भयानक, भद्दे और शर्मनाक थे. मैने आज बोलने का फैसला इसलिए किया क्योंकि किसी की चुप्पी को उसकी कमजोरी नहीं समझना चाहिए. मैं कोई ऐसी चीज नहीं हो जो किसी की सोच या उसके एजेंडा का हिस्सा बन जाऊं. तो अगली बार से अगर आप मेरे या मेरे पति के खिलाफ कोई आरोप लगाएं तो सबूत के साथ लगाएं या मुझे इस पूरे विवाद से दूर रखें. मैंने पूरे सम्मान के साथ अपना करियर बनाया है और मैं अपने आत्मसम्मान के साथ किसी तरह का समझौता नहीं करूंगी. किसी के लिए ये बात हजम करना मुश्किल हो सकता लेकिन मैने खुद को बिना किसी मदद के स्थापित किया है. मैं एक स्वतंत्र महिला हूं जो एक क्रिकेटर की पत्नी है.’ आगे उन्होंने लिखा कि मैं चाय नहीं कॉफी पीती हूं.

Anushka Shama Selectors Tea Farokh Engineer Controversy: अनुष्का शर्मा ने वर्ल्ड कप में सेलेक्टर्स के चाय पिलाने के फारुख इंजीनियर के आरोप पर कहा- फैमिली बॉक्स में बैठी और कॉफी पीती हूं चाय नहीं

Farokh Engineer BCCI Selectors Virat Anushka: टीम इंडिया के पूर्व विकेटकीपर फारुख इंजीनियर बीसीसीआई चयनकर्ताओं पर बरसे- वर्ल्ड कप में अनुष्का शर्मा को चाय पिला रहे थे सिलेक्टर्स

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App