नई दिल्ली. भारत के निशानेबाज अंकुर मित्तल ने कोरिया के चांगवान में आयोजित आईएसएसएफ वर्ल्ड चैंपियनशिप में  स्वर्ण पदक जीतकर इतिहास रच दिया है. अंकुर ने पुरुषों की डबल ट्रैप स्पर्धा में गोल्ड मेडल हासिल किया. ये अंकर के करियर के अब तक की सबसे बड़ी जीत है. आईएसएसएफ वर्ल्ड चैंपियनशिप डबल स्पर्धा में गोल्ड मेडल जीतने वाले अंकुर भारत के पहले निशानेबाज हैं.

विश्व कप में कई पदक हासिल कर चुके अंकुर मित्तल ने 150 में 140 सही निशाने लगाए. जिसके गोल्ड मेडल के लिए उनका मुकाबला चीनी निशानेबाज यियांग यांग और स्लोवाकिया के हुबर्ट आंद्रेजेज से हुआ. 26 वर्ष के भारतीय निशानेबाज अंकुल मित्तल ने चीन के निशानेबाज पर 4-3 से जीत दर्ज कर स्पर्धा का स्वर्ण पदक अपने नाम किया वहीं चीनी के निशानेबाज को रजत पदक से संतोष करना पड़ा. जबकि स्लोवाकिया के हुबर्ट आंद्रेजेज को कांस्य पदक मिला.

इसके अलावा अंकुर ने टीम स्पर्धा में भी इसी प्रतियोगिता का कांस्य पदक भी हासिल किया. अंकुर ने अपनी टीम मोहम्मद असाब और शार्दूल विहान के साथ मिलकर 409 अंक हासिल किए और उन्हें कांस्य पदक मिला.  इस स्पर्धा का गोल्ड मेडल इटली के नाम रहा जबकि सिल्वर मेडल चीन ने जीता.

दूसरी स्पर्धाओं में भारत की दो महिला निशानेबाज करीबी मुकाबले में फाइनल की दौड़ से बाहर हो गईं. भारत की निशानेबाज अंजुम मुदगिल जो आईएसएसएफ वर्ल्ड चैंपियनशिप में 10 मीटर एयर रायफल इवेंट में रजत पदक जीत कर 2020 के ओलंपिक के लिए क्वालिफाई कर चुकी  हैं वह इस स्पर्धा में  1170 अंक के साथ 9वीं पायदान पर रहीं.  अंजुम के अंक 8वें स्थान पर रहने वाली स्विट्जरलैंड की निशानेबाज नीना क्रिस्टेन के अंक बराबर थे. 

ISSF World Championships 2018: ओम प्रकाश मिथरवाल ने 50 मीटर पिस्टल स्पर्धा में जीता गोल्ड मेडल