चटगांव. अफगानिस्तान और बांग्लादेश के बीच चटगांव में खेले जा रहे टेस्ट मैच में अफगानिस्तान ने मेजबान बांग्लादेश को 224 रनों से हराकर  नया कीर्तिमान रच दिया है. ये अफगानिस्तान कि विदेशी सरजमीं पर पहली टेस्ट जीत है. ऑस्ट्रेलिया के बाद अफगानिस्तान विश्व का दूसरा ऐसा देश है जिसने अपने शुरुआत के तीन टेस्ट मैचों में दो टेस्ट में जीत हासिल की है. बांग्लादेश को मैच जीतने के लिए पांच के पांचवें दिन 225 रनों की जरूरत थी और उसके चार विकेट बाकी थे. बारिश के चलते सिर्फ अंतिम सत्र का खेल हो पाया. इस दौरान अफगानिस्तान ने बेहतरीन बॉलिंग करते हुए बांग्लादेश के एक के बाद विकेट आउट कर दिए. अफगानिस्तान के कप्तान राशिद खान ने दूसरी पारी में शानदारकर बॉलिंग करते हुए 6 विकेट लिए. इससे पहले उन्होंने पहली पारी में भी  5 विकेट लिए थे. इस तरह पूरे टेस्ट मैच में राशिद खान ने 11 विकेट लिए. राशिद खान को उनकी शानदार बॉलिंग के  लिए प्लेयर ऑफ द मैच का अवार्ड दिया दिया. 

बांग्लादेश को मैच जीतने के लिए पांच के पांचवें दिन 225 रनों की जरूरत थी और उसके चार विकेट बाकी थे. बारिश के चलते पांचवें दिन सिर्फ अंतिम सत्र का खेल हो पाया. इस दौरान अफगानिस्तान ने बेहतरीन बॉलिंग करते हुए बांग्लादेश के एक के बाद विकेट आउट कर दिए. राशिद खान ने कमाल की गेंदबाजी करते हुए दूसरी पारी में बांग्लादेश के 6 विकेट लिए और बांल्गादेश को हराने में अहम भूमिका निभाई. अफगानिस्तान ने अपनी पहली पारी में 342 और दूसरी पारी में 260 रनों का स्कोर किया. रहमत शाह ने जहां पहली पारी में अपनी टीम के लिए शतकीय पारी खेली वहीं असगर अफगान और राशिद खान ने अर्धशतक लगाकर टीम को मजबूत स्थिति में पहुंचा दिया. पहली पारी में राशिद खान बांग्लादेश को सस्ते में समेटने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई. इसके बाद अफगानिस्तान की दूसरी पारी में इब्राहिम जादरान ने 87 और असगर अफगान ने 50 रनों की पारियां खेलीं.

बांग्लादेश पूरे टेस्ट मैच में सघर्ष करता रहा. अफगानिस्तान की धारदार बॉलिंग के आगे बांग्लादेश के बल्लेबाज कुछ खास नहीं कर पाए. पहली पारी में बांग्लादेश महज 205 रन बना सका. जिसमें सबसे ज्यादा 52 रन मोमिन उल हक ने बनाए. उनके अलावा मोसेद्देक होसैन ने 48 रनों की पारी खेली. वहीं दूसरी पारी में एक बार फिर बांग्लादेश की पारी लड़खड़ा गई और महज 172 रनों पर सिमट गई. इस तरह अफगानिस्तान ने विदेशी सरजमीं पर पहली टेस्ट जीत हासिल की.

बांग्लादेश को हराने के बाद अफगानिस्तान दुनिया का ऐसा दूसरा देश बन गया है जिसने के बाद सबसे कम टेस्ट मैचों में तीसरी जीत हासिल की है. ऑस्ट्रेलिया को जहां अपनी पहली जीत पहले टेस्ट मैच में मिली वहीं दूसरी जीत तीसरे टेस्ट में हासिल की. जबकि अफगानिस्तान ने भी तीसरे ही टेस्ट मैच में दूसरी जीत दर्ज कर ली. अफगानिस्तान को पहले टेस्ट मैच में भारत के हाथों हार का सामना करना पड़ा. लेकिन दूसरे टेस्ट में अफगान टीम ने आयरलैंड को पटखनी दी थी.

जहां तक टेस्ट क्रिकेट में दूसरी जीत की बात है तो भारत को टेस्ट में दूसरी जीत 30वें मैच में मिली. इंग्लैंड को टेस्ट क्रिकेट में दूसरी जीत चौथे टेस्ट में जबकि न्यूजीलैंड को दूसरी जीत 55वें टेस्ट मैच में नसीब हुई. बांग्लादेश को टेस्ट क्रिकेट में दूसरी जीत हासिल करने के लिए सबसे अधिक टेस्ट मैच खेलने पड़े. बांग्लादेशी टीम को दूसरी जीत 60वें टेस्ट मैच में मिली थी.

पाकिस्तान को दूसरी जीत हासिल करने के लिए 9 टेस्ट मैच खेलने पड़े. साउथ अफ्रीका को दूसरी जीत 13वें टेस्ट मैच में मिली. श्रीलंका को दूसरी टेस्ट जीत हासिल करने के लिए 43 टेस्ट खेलने पड़े. वहीं वेस्टइंडीज की टीम को दूसरी टेस्ट जीत 12वें मैच में मिली. जबकि जिम्बाब्वे को टेस्ट मैच में दूसरी जीत हासिल करने के लिए 31 टेस्ट मैचों तक पसीना बहाना पड़ा. आयरलैंड का रिकॉर्ड ये कहता है कि आयरिश टीम अब तक 3 टेस्ट मैच खेल चुकी है और उसे सभी मैचों में हार का सामना करना पड़ा है.

ये टेस्ट मैच अफगानिस्तान के ऑलराउंडर मोहम्मद नबी का अंतिम मैच था. टेस्ट मैच के बाद अफगानिस्तान के खिलाड़ियों ने उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया. मोहम्मद नबी की इससे बड़ी शानदार विदाई और क्या हो सकती है कि अफगानिस्तान टीम ने विदेशी धरती पर जीत दर्ज कर उन्हें विदाई दी. 

England Vs Australia Ashes Series 2019: इंग्लैंड को एशेज सीरीज के मैनचेस्टर टेस्ट में हराने के बाद आस्ट्रेलियाई टीम ने जमकर मनाया जश्न, देखें वीडियो

Dinesh Karthik Apology After Violating BCCI Clause: बीसीसीआई के नियम उल्लंघन के बाद भारतीय क्रिकेटर दिनेश कार्तिक ने मांगी माफी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App