काकामिगहारा: जापान में हो रहे महिला एशिया कप 2017 में आज काकामिगहारा कावासाकी स्टेडियम में भारत और चीन के बीच खेले गए फाइनल मुकाबले में भारत ने चीन को 5-4 से हरा दूसरी बार खिताब अपने नाम कर लिया. फुल टाइम मुकाबले में भारत और चीन के बीच स्कोर 1-1 से बराबर हो गया था. भारत की ओर से गुरजीत कौर ने 1 गोल किया था. जवाब में चीन ने भी एक गोल कर स्कोर बोर्ड को बराबर कर दिया. उसके बाद शूटआउट में भारत ने चीन को 5-4 से हराते हुए दूसरी बार एशिया कप पर कब्जा करने में कामयाब रहा. भारतीय टीम का प्रदर्शन अंतिम तक शानदार रहा. शुरुआती मुकाबले से लेकर फाइनल तक भारत अपराजित रहा. बता दें कि इससे पहले 3 नवंबर को हीरो हॉकी एशिया कप के सेमीफाइनल मुकाबले में भारतीय टीम ने शानदार प्रदर्शन जापान को 4-2 से मात देते हुए फाइनल में प्रवेश किया. इस मैच में गुरजीत कौर ने बेहतरीन खेल का प्रदर्शन करते हुए सबसे ज्यादा 2 गोल किए. गुरजीत ने पहला गोल 7वें और दूसरा 9वें मिनट में कर जापान पर बढ़त बना ली थी. इसके अलावा भारत की ओर से नवजोत कौर और लालरेमसियामी ने 1-1 गोल कर टीम को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई. सेमीफाइनल मुकाबले से पहले भारतीय टीम ने क्वार्टर फाइनल में कजाकिस्तान को 7-1 के बड़े अंतर से हराते हुए सेमीफाइनल में प्रवेश किया था. 
 
भारत ने टूर्नामेंट में अब तक दागे 27 गोल
भारती महिला हॉकी टीम ने इस टूर्नामेंट में बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए अब तक 27 गोल दाग चुकी है. अभी तक के खेले गए मैच में भारत की ताकत पेनल्टी कॉर्नर को गोल में तब्दील करनी रही है. भारत के गुरजीत कौर ने अभी तक 8 गोल किए हैं, जो कि इस टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा गोल करने वाली खिलाड़ियों में तीसरे नंबर पर हैं. बता दें कि भारत ने इससे पहले तीन बार महिला एशिया कप के फाइनल में पहुंच चुकी है. जिसमें केवल एक बार ही जीत हासिल हुई है. साल 1999 में फाइनल मुकाबले में भारत को दक्षिण कोरिया के हाथों 2-3 से हार का सामना करना पड़ा था. जबकि 2004 में मेजबान भारत ने जापान को 1-0 से हराकर खिताब का कब्जा किया था. साल 2009 में बैंकॉक में आयोजित टूर्नामेंट के फाइनल में भारत को चीन के हाथों 5-3 से हार का सामना करना पड़ा. 
 
 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर