कोलकाता. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष जगमोहन डालमिया ने बुधवार को कहा कि कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए खेलने वाले कैरेबियाई स्पिन गेंदबाज सुनील नरीन को अपने संदिग्ध गेंदबाजी ऐक्शन की चेन्नई में फिर से जांच करवानी होगी. आईसीसी द्वारा नरीन के ऐक्शन को हरी झंडी मिलने के बावजूद बीसीसीआई ने उन पर आईपीएल में हिस्सा लेने पर प्रतिबंध लगाया हुआ है.

बंगाल क्रिकेट संघ (सीएबी) की ओर से 1990 में रणजी ट्रॉफी विजेता रही बंगाल क्रिकेट टीम को सम्मानित करने के लिए आयोजित एक समारोह में आए डालमिया ने कहा, “मेरी नाइट राइडर्स टीम से बात हुई है. उन्हें फिर से जांच करवानी होगी, अब यह जांच चाहे एक बार हो या दो बार इससे फर्क नहीं पड़ता.”

नरीन मौजूदा समय में दुनिया के सर्वश्रेष्ठ स्पिन गेंदबाज माने जाते हैं. पिछले वर्ष सितंबर में भारत में हुए चैम्पियंस ट्रॉफी के दौरान नरीन पर संदिग्ध ऐक्शन से गेंदबाजी का आरोप लगा और उन्हें बीसीसीआई द्वारा आयोजित किसी भी टूर्नामेंट में हिस्सा लेने पर रोक लगा दी गई. नरीन ने अपने ऐक्शन में सुधार किया और बाद में आईसीसी ने उन्हें मंजूरी भी मिल गई. नरीन ने हालांकि यह कहते हुए आईसीसी विश्व कप से खुद को बाहर रखा कि वह नए ऐक्शन से गेंदबाजी को लेकर अभी सहज नहीं हुए हैं.

बीसीसीआई ने हालांकि आईसीसी की रिपोर्ट को यह कहकर खारिज कर दिया है कि नरीन को चेन्नई के श्री रामचंद्र विश्वविद्यालय में अपने ऐक्शन की दोबारा जांच करवानी होगी. दूसरी ओर मौजूदा चैम्पियन नाइट राइडर्स ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के आठवें संस्करण से बाहर बैठने की चेतावनी दी है. आईपीएल का आठवां संस्करण आठ अप्रैल से कोलकाता में नाइट राइडर्स और मुंबई इंडियंस के बीच होने वाले मैच से होने वाला है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App