नई दिल्ली: आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी टूर्नामेंट खत्म हो चुका है. इस टूर्नामेंट में पाकिस्तान ने भारतीय टीम को हराकर खिताब पर कब्जा कर लिया. जिसके बाद अब भारत पाकिस्तान से इस हार का बदला जल्द से जल्द लेना चाहेगा.
 
इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) के साल 2014 से लेकर 2019 के शेड्यूल पर गौर किया जाए तो भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय क्रिकेट सीरीज खेली जानी है. इसमें भारतीय सरजमीं पर साल 2017 में नवंबर महीने से लेकर जनवरी 2018 के बीच पाकिस्तान और भारत के बीच 3 टेस्ट, 5 वनडे और 2 टी20 मुकाबले खेले जाने थे.
 
शेड्यूल में बदलाव
लेकिन भारत और पाकिस्तान के बीच चल रहे मौजूदा तनाव को देखते हुए भारत और पाकिस्तान के बीच क्रिकेट सीरीज पर तलवार लटक गई. जिसके बाद आईसीसी को भी अपने इस शेड्यूल में बदलाव करना पड़ा. अब अक्टूबर 2017 से लेकर दिसंबर 2017 के बीच श्रीलंकाई क्रिकेट टीम पाकिस्तान की धरती पर जाएगी और 3 टेस्ट, 5 वनडे और 2 टी20 मुकाबले खेलेगी.
 
 
द्विपक्षीय क्रिकेट सीरीज
हालांकि नए शेड्यूल के मुताबिक पाकिस्तान और भारत के बीच साल 2018 में जनवरी-फरवरी के दौरान भारत में द्विपक्षीय क्रिकेट सीरीज खेली जानी है. जिसमें कितने मैच खेले जाने वो फिलहाल तय नहीं है. दोनों देशों के बीच मौजूदा तनाव को ध्यान में रखते हुए अब देखना ये होगा कि क्या भारत सरकार भारत और पाकिस्तान के बीच सीरीज खेलने की इजाजत देती है या दोनों देशों की सीरीज को लेकर अपना कड़ा रुख अख्तियार रखती है.
 
 
अगर भारत सरकार से दोनों देशों के बीच सीरीज की अनुमति मिल भी जाती है तो सवाल उठेगा कि ये सीरीज भारत में ही खेली जाएगी या फिर सरकार इसमें किसी तरह का बदलाव करते हुए भारत से बाहर की अनुमति देती है. अगर ऐसा होता है तो पाकिस्तान में नहीं बल्कि दुबई में दोनों के बीच सीरीज खेली जा सकती है.
 
 
तनाव कम होगा
हाल ही में पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी ने भी भारतीय सरकार से गुहार लगाते हुए कहा कि वह भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय क्रिकेट सीरीज पर अपना रुख नरम करे. आईसीसी की वेबसाइट पर अपने कॉलम में लिखते हुए अफरीदी ने कहा है कि दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय सीरीज को दोबारा शुरू किया जाना चाहिए. इससे पड़ोसी मुल्कों में तनाव कम होने में मदद मिलेगी.
 
बता दें कि भारत और पाकिस्तान की टीमों ने 2007 के बाद से द्विपक्षीय क्रिकेट सीरीज नहीं खेली है. अब 10 साल बाद भारत और पाकिस्तान के बीच क्रिकेट सीरीज खेली जाती है तो भारत जरूर चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में मिली हार का बदला लेना चाहेगा.
 
चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल मुकाबले में टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने आई पाकिस्तान टीम ने 50 ओवर में 4 विकेट खोकर 338 रन बनाए. जिसके जवाब में टीम इंडिया पूरे ओवर भी बल्लेबाजी नहीं कर पाई और 30.3 ओवर में 158 रनों पर ही सिमट गई. इसके साथ ही भारत को 180 रनों से करारी हार का सामना करना पड़ा है.