नई दिल्ली. टीम इंडिया की क्वॉर्टर फाइनल में बांग्लादेश पर 109 रन से जोरदार जीत पर बांग्लादेश के फैंस ने सवाल उठाना शुरू कर दिया है. एक तरफ अंपायर के फैसलों पर सवाल उठाते हुए बंग्लादेशी क्रिकेट फैंस ने विरोध प्रदर्शन किया तो दूसरी तरफ आईसीसी के प्रेजिडेंट मुस्तफा कमाल ने आरोप लगाया है कि क्वॉर्टर फाइनल में भारत को जिताने की साजिश की गई थी और अंपायर ने एक के बाद एक सारे फैसले बांग्लादेश के खिलाफ सुनाए. कमाल बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष हैं.

मुस्तफा ने कहा कि कल के मैच में कई गलत फैसले लिए गए और ये सारे फैसले बांग्लादेश के खिलाफ लिए गए. उन्होंने आरोप लगाया कि भारत के पक्ष में अंपायरों ने 12 फैसले सुनाए और उनका मानना है कि ऐसा टीम इंडिया को जिताने की साजिश के तहत किया गया. मुस्तफा का कहना है कि अंपायर के गलत फैसले इस मैच को लेकर शक पैदा करते हैं. मुस्तफा ने एक और बात पर नाराजगी जताते हुए कहा कि स्क्रीन पर लिख दिया गया था कि मैच भारत जीतेगा. उन्होंने इस बात की आईसीसी के सीईओ से शिकायत भी की लेकिन कुछ नहीं हुआ है. मुस्तफा ने कहा है कि वह इस मुद्दे को आईसीसी के सामने उठाएंगे.

गुरुवार को भारत-बांग्लादेश के बीच खेले गए क्वॉर्टर फाइनल में दो फैसलों को लेकर काफी विवाद रहा. पहले नर्वस नाइनटीज में खेल रहे रोहित शर्मा को कैच आउट होने पर अंपायर इयान गुड ने उस गेंद को नो बॉल करार दिया जोकि कमर से बमुश्किल जरा सा ऊपर रही होगी. इस फैसले के बाद रोहित ने न सिर्फ सेंचुरी बनाई बल्कि 137 रनों की पारी खेलते हुए भारत को बड़े स्कोर तक भी पहुंचा दिया. दूसरा विवादित फैसला बांग्लादेश की पारी के दौरान आया. शिखर धवन ने बाउंड्री लाइन पर महमदुल्लाह का जो कैच पकड़ा उसे लेकर भी बांग्लादेश फैंस के मन में संदेह था. हालांकि महमदुल्लाह को आउट थर्ड अंपायर धवन के उस कैच की जांच के बाद दिया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App