इंदौर. भारत ने तीसरे टेस्ट में न्यूजीलैंड का सूपड़ा ही साफ कर दिया है. टीम इंडिया ने न्यूजीलैंड का 3-0 से सफाया करते हुए सीरीज में क्लीन स्वीप कर दिया है. भारत ने 321 रनों से आखिरी टेस्ट पर कब्जा किया. इस जीत के रूप में टीम इंडिया ने देशवासियों को विजयादशमी का तोहफा भी दे दिया है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
होलकर स्टेडियम में चौथे दिन भारत के गेंदबाजों ने न्यूजीलैंड की टीम की दूसरी पारी में शुरू से ही दबाव बनाए रखा. 475 रनों का पीछा करने आई कीवी टीम के बल्लेबाज लैथम को दूसरे ओवर में ही एलबीडब्ल्यू आउट करते हुए उमेश ने टीम को पहली सफलता दिलाई. कप्तान केन विलियमसन को भी अश्विन ने क्रीज पर टिकने नहीं दिया और एलबीडब्ल्यू आउट कर दिया.
 
रॉस टेलर की गिल्लियां बिखेरते हुए अश्विन ने टीम को तीसरी सफलता दिलाई. रौंची को भी अश्विन ने चलता किया और टीम को चौथी सफलता भी दिला दी. इसके बाद आए नीशम को जडेजा ने क्रीज पर जमने भी नहीं दिया और खाता खोलने से पहले ही कोहली के हाथों कैच आउट करवा दिया.
 
 
एक छोर को पकड़े हुए मार्टिन गुप्टिल को जडेजा ने एलबीडब्ल्यू आउट करते हुए टीम को छठी सफलता दिलाई. टीम को पूरी तरह से भारतीय गेंदबाजों ने बिखेर कर ही रख दिया. नीचले क्रम के बल्लेबाजों को तो भारतीय गेंदबाजों ने सांस भी नहीं लेने दी. सैंटनर को अपनी फिरकी के जाल में फंसा कर आउट करने के बाद पटेल और मैट हेनरी को अश्विन ने खाता खोलने का भी मौका नहीं दिया.
 
आखिरी विकेट के रूप में 153 के स्कोर पर अश्विन ने अपनी ही गेंद पर बाउल्ट का कैच पकड़ कर कीवी बल्लेबाजों का सफाया कर दिया. इस पारी में भी अश्विन ने शानदार गेंदबाजी की और 7 विकेट अपने नाम किए. इससे पहले पुजारा ने दूसरी पारी में नाबाद 101 रनों की पारी खेली. जीत के साथ टीम ने गदा के रूप में ट्रॉफी भी अपने नाम की.