नई दिल्ली. बीसीसीआई ने लोढ़ा कमेटी की सिफारिशों पर जवाब सुप्रीम कोर्ट में दाखिल करते हुए कहा है कि बोर्ड लोढ़ा कमेटी की सारी सिफारिशें नहीं मानेगा. इसके अलावा बोर्ड ने कहा है कि लोढ़ा कमेटी की सिफारिशों के मुताबिक बदलाव न करने के आरोप गलत हैं.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
बीसीसीआई ने कहा वो पुराने सिस्टम के आधार पर काम करेगी, वो तमिलनाडु सोसाइटी एक्ट के तहत रजिस्टर है इस लिए कोई भी प्रस्ताव तभी स्वीकार होंगे जब वो बहुमत से पास हुआ हो.
 
बीसीसीआई ने अपने जवाब में कहा है कि कमेटी के सदस्यों की एक मीटिंग बुलाई गई थी, मीटिंग में वोटिंग कराई गई और वोटिंग में लोढ़ा कमेटी के कुछ प्रस्तावों को नामंजूर कर दिया गया
 
बीसीसीआई ने कहा कि उन्होंने लोढ़ा पैनल जस्टिस को 40 मेल किये, जिसका रिकॉर्ड वो सुप्रीम कोर्ट को सौंप रहे हैं. बोर्ड ने ये भी कहा कि ये आरोप गलत है कि उन्होंने जस्टिस लोढ़ा कमेटी से संपर्क नहीं किया और लोढ़ा कमेटी के ये आरोप गलत है कि बीसीसीआई ने उनके मेल का कोई जवाब नहीं दिया.
 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App