नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड में सुधार लाने के इरादे से सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर बनाई गई लोढ़ा कमेटी ने बोर्ड को लेकर कड़ा रुख अपना लिया है. सोमवार को कमेटी ने उन बैंकों के लिए आदेश जारी किया है जिनमें बीसीसीआई के खाते हैं. कमेटी ने बैंकों को अगले आदेश तक बोर्ड के जरिए किए जाने वाले सभी वित्तीय भुगतान पर रोक लगाने को कहा है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
बोर्ड के जरिए किए जाने वाले भुगतान में 30 सितंबर को बोर्ड की आम बैठक में लिए गए वित्तीय फैसलें शामिल हैं. कमेटी ने बैंकों को लिखे पत्र में कहा है कि बीसीसीआई ने 30 सितंबर को जनरल मीटिंग में कई सदस्य संघों को बड़ी राशि देने का फैसला किया है. इन पर रोक लगा दी जाए. इसकी कॉपी बीसीसीआई सचिव अजय शिर्के, सीईओ राहुल जौहरी और ट्रेजरर अनिरुद्ध चौधरी को भी भेजी गई है.
 
पत्र में कमेटी ने कहा है कि 31-08-16 को दिए गए निर्देशों में यह कहा गया था कि बोर्ड कोई भी रूटीन मामलों के अलावा फैसला नहीं लेगा. जो भुगतान किया जाना है वो रूटीन मामलों का हिस्सा नहीं हैं. साथ ही कहा है कि बोर्ड ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले को नहीं माना. कमेटी के जरिए फंड पेमेंट पर जो गाइडलाइन्स दी थीं उनका भी पालन नहीं किया गया है.
 
 
बता दें कि कोर्ट 6 तारीख को नए दिशानिर्देश जारी करेगा. इसके पहले किसी तरह का भुगतान बोर्ड नहीं करेगा. अगर इसकी अवहेलना की जाती है तो इसकी रिपोर्ट सुप्रीम कोर्ट को सौंपी जाएगी. इससे पहले बीसीसीआई ने लोढ़ा कमेटी की अहम सिफारिशों को भी खारिज कर दिया था.