रियो डी जिनेरियो. ब्राजील की मेजबानी में खेले जा रहे पैरालिंपिक खेलों में दीपा मलिक ने रजत पदक जीत कर इतिहास रच दिया है. दीपा पैरालिंपिक खेलों में पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला बन गई हैं. उन्होंने एफ-53 गोला फेंक स्पर्धा में 4.61 मीटर तक गोला फेंक कर दूसरा पायदान हासिल किया. दीपा कमर के नीचे से लकवाग्रस्त है. उन्हें 2012 में अर्जुन अवार्ड भी मिल चुका है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
पैरालिंपिक खेलों में दीपा के रजत पदक जीतने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विटर पर उन्हें बधाई दी है. उन्होंने लिखा है कि बहुत अच्छे दीपा, पैरालम्पिक में तुम्हारे रजत पदक ने देश को गौरवान्वित किया है. दीपा की इस उपलब्धि के तहत हरियाणा सरकार उन्हें चार करोड़ रुपये का नकद पुरस्कार भी  देगी.
 
वहीं फाइनल मुकाबले में बहरीन की फातिमा नदीम ने 4.76 मीटर गोला फेंककर स्वर्ण पदक पर कब्जा जमाया जबकि यूनान की दिमित्रा कोरोकिडा 4.28 मीटर गोला फेंक कर कांस्य पदक अपने नाम किया.
 
गौरतलब है कि दीपा के पदक के साथ ही भारत के इन खेलों में कुल तीन पदक हो गए हैं. इससे पहले ऊंची कूद में थंगावेलु मरियप्पन ने स्वर्ण और वरुण भाटी ने कांस्य पदक जीत कर देश का गौरव बढ़ाया था.