नई दिल्ली. साल 2008 के बीजिंग ओलंपिक में भारत को गोल्ड मेडल दिलाने वाले स्टार शूटर अभिनव बिंद्रा ने रविवार को औपचारिक तौर पर शूटिंग से संन्यास लेने का ऐलान कर दिया है. बिंद्रा ने कहा है कि अब यह आगे बढ़ने का वक्त है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
उन्होंने भविष्य की अपनी योजनाओं को बताते हुए कहा है कि अब उनका लक्ष्य खेल विज्ञान से संबंधित काम करने का है, जिसमें फिटनेस और चिकित्सा भी शामिल हैं. बिंद्रा ने कहा, ‘अब आगे बढ़ने का समय आ गया है, अब जिम्मेदारी युवा पीढ़ी की है.’ 
 
अपने संन्यास का ऐलान करते वक्त बिंद्रा काफी भावुक हो गए थे. उन्होंने इस मौके पर नेशनल राइफल असोसिएशन ऑफ इंडिया का धन्यवाद करते हुए कहा कि असोसिएशन ने हर कदम पर उनकी मदद की. 
 
स्टार शूटर ने कहा, ‘मैं हमेशा से ही कड़ी मेहनत पर भरोसा करता आया हूं. कड़ी मेहनत का कोई और विकल्प नहीं है.’ 
 
बता दें कि अभिनव बिंद्रा ने साल 2000 में सबसे पहले सिडनी ओलंपिक में हिस्सा लिया था. 3 बार ओलंपिक के फाइनल्स तक पहुंचने वाले 33 वर्षीय बिंद्रा ने साल 2008 के बीजिंग ओलंपिक में 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा में गोल्ड मेडल जीता था. भारत को ओलंपिक में एकमात्र गोल्ड मेडल बिंद्रा ने ही दिलाया है. वह रियो ओलंपिक में चौथे स्थान पर आए थे.